New Delhi : राष्ट्रीय जनता दल के सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) की 26 नवंबर को अचानक तबीयत खराब हो गई। इसके बाद उन्हें AIIMS दिल्ली के इमरजेंसी वार्ड में भर्ती कराया गया है। चारा घोटाले से जुड़े दुमका कोषागार मामले के आरोपी वरिष्ठ राजनेता ने कथित तौर पर बुखार और कमजोरी की शिकायत बताई, जिसके बाद उन्हें भर्ती कराया गया। हालांकि उनकी हालत गंभीर नहीं है, लेकिन डॉक्टरों ने उन्हें निगरानी में रखा है। जानकारी के अनुसार, राजद अध्यक्ष आज दोपहर ढाई बजे के करीब एम्स में भर्ती हुए हैं। लालू दिल्ली में अपने बेटी मीसा के पास रह रहे थे। वह डायबिटीज और गुर्दे की समस्याओं सहित कई बीमारियों से पीड़ित हैं और लंबे समय से डॉक्टरों की देखरेख में हैं। सूत्रों के अनुसार, स्वास्थ्य ठीक न होने के कारण ही लालू यादव बिहार उपचुनाव के बाद पटना से दिल्ली लौटे और एम्स में भर्ती हो गए।

कुछ दिन पूर्व वह चारा घोटाले (Fodder Scam) के मामले में कोर्ट में हाजिर होने के लिए पटना गए थे। इस दौरान उन्हें पटना में खुली जीप चलाते भी देखा गया, जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हुआ था। 73 साल के RJD सुप्रीमो और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री अपनी ओपन जीप को खुद ड्राइव कर, पटना की सड़क पर सैर कर रहे थे।

कोर्ट में चल रहा है मामला

बांका कोषागार से जुड़े चारा घोटाले के मामले में RJD सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) सीबीआई की विशेष कोर्ट में मंगलवार की सुबह 11 बजे पेश हुए थे। इस सुनवाई के दौरान भी लालू यादव ने कोर्ट को बताया कि उनकी तबियत अभी सही नहीं है और उनका इलाज चल रहा है। ऐसे में उन्हें राहत दी जाये और जब भी कोर्ट को उनकी जरूरत होगी, वो पेशी पर उपस्थित हो जाएंगे। जिसके बाद लालू यादव को कोर्ट से राहत दी गई। कोर्ट ने कहा कि वो अपने वकील के माध्यम से अपनी बात को कोर्ट के सामने रख सकते हैं। बता दें कि ये मामला मामला बांका उप कोषागार से फर्जी विपत्र के सहारे 46 लाख रुपये की अवैध निकासी का है। इस मामले में पटना में स्पेशल जज की अदालत ने लालू प्रसाद सहित 28 आरोपियों को सशरीर उपस्थित होने का आदेश जारी किया था।

Posted By: Shailendra Kumar