बेंगलुरु। कोरोना वायरस का कहर जारी है और देश के कुछ राज्यों में तेजी से नए मामले सामने आ रहे हैं। ऐसे में अब इंसान तो इंसान जानवरों में भी इसके संक्रमण का खतरा मंडराने लगा है। ऐसा ही कुछ हुआ है कर्नाटक के तुमकुरु जिले में जहां इंसानों को तो छोड़िए, भेड़ और बकरियों को भी क्वारंटाइन किया गया है। चरवाहे को कोरोना संक्रमित पाए जाने के बाद करीब 50 बकरियों और भेड़ों को भी क्वारंटाइन कर दिया गया है।

पशुपालन विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि जिले के गोल्लारहट्टी तालुके के गोडेकेर गांव ने पाया कि कुछ बकरियों व भेड़ों को सांस लेने में दिक्कत हो रही है। अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर कहा, "चरवाहा जिन बकरियों व भेड़ों की देखरेख कर रहा था, उनमें से कुछ को सांस की दिक्कत आने लगी... अभी जबकि सभी जगह कोरोना संक्रमण चल रहा है तो लोग भयभीत हो गए कि कहीं जानवरों को भी यह बीमारी न हो गई हो।"

इसके बाद ग्रामीणों ने कर्नाटक के विधि व संसदीय कार्यमंत्री जेसी मधुस्वामी व जिले के उपायुक्त के. राकेश कुमार को संपर्क किया। मंत्री के आदेश पर जिले के पशुपालन अधिकारी गांव पहुंचे और नमूने लिए। पशु चिकित्सा विशेषज्ञों को संदेह है कि जानवर पीपीआर नामक बीमारी से पीड़ित हैं, जिसे बकरी का प्लेग या माइकोप्लाज्मा संक्रमण के रूप में जाना जाता है। अधिकारी ने बताया कि नमूनों को पशु स्वास्थ्य और पशु चिकित्सा संस्थान भोपाल भेजा गया है।

अधिकारी ने कहा कि अभी पशुओं में कोरोना संक्रमण का कोई मामला सामने नहीं आया है। पीपीआर भी संक्रामक बीमारी है, इसलिए संदिग्ध बकरियों व भेड़ों को क्वारंटाइन किया गया है।

Posted By: Ajay Kumar Barve

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना