सोनभद्र (उप्र)। Gold mine in UP: उत्तर प्रदेश के सोनभद्र में सोने का भंडार मिला है। यहां जमीन में हजारों टन सोना दबा होने का पता चला है। भारतीय भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण (GSI) को सोनभद्र में सोन पहाड़ी और हरदी इलाकों में टीले के नीचे लगभग 3 हजार टन सोना मिला है। बता दें कि ये भारत के पास मौजूदा स्वर्ण भंडार से करीब 5 गुना ज्यादा है।

उत्तरप्रदेश राज्‍य के खनिज विभाग ने करीब साढ़े 4 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में 2 स्थानों पर सोने की खदान मिलने की पुष्टि की है। जानकारी के मुताबिक यह भूमि वन विभाग के अधीन है, जबकि इसका कुछ भू भाग निजी स्वामित्व वाला है।

अब विभाग जल्द ही ये सोना निकालने के लिए खुदाई शुरू करेगा। बता दें कि जियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया (GIS) की टीम पिछले 15 सालों से इसे लेकर सोनभद्र में काम कर रही थी। 8 साल पहले टीम को जमीन में सोने का भंडार होने की जानकारी लगी और जांच के बाद विभाग ने सोने का भंडार होने की पुष्‍टि की थी। शासन के निर्देश पर गठित 7 सदस्यीय टीम इस पूरे मामले पर रिपोर्ट तैयार कर रही है। उत्तर प्रदेश सरकार ने अब इस सोने की खुदाई के लिए इस टीले को बेचने के लिए ई नीलामी प्रक्रिया शुरू की है।

GIS के मुताबिक सोने के भंडार का पता लगाने का काम पिछले दो दशक से चल रहा था। विभाग ने बताया कि यहां सोन पहाड़ी में करीब 2943.26 टन और हरदी ब्लॉक में 646.16 टन सोना मिला। नीलामी को लेकर आदेश मिलने के बाद यहां जियो टैगिंग शुरू की गई और जल्द ही नीलामी की प्रक्रिया शुरू की जाएगी। इन ब्लॉक की ई टेंडरिंग के जरिए नीलामी की प्रक्रिया जल्द ही आरंभ होगी।

स्वर्ण भंडार से 5 गुना ज्यादा

भारत के पास इस समय 626 टन स्वर्ण भंडार है, जबकि सोने का ये नया भंडार इससे करीब 5 गुना ज्यादा है। इसकी अनुमानित कीमत करीब 12 लाख करोड़ रुपए बताया ज रही है।

अधिकांश जमीन सरकारी

वरिष्ठ खान अधिकारी केके राय ने बताया कि जो भूमि खनन क्षेत्र में आ रही है वो रिजर्व फॉरेस्ट भूमि है और इसके स्थानांतरण को लेकर शासन स्तर से पहल होगी। खनन से पूर्व वन विभाग से इस भूमि के बदले दूसरी भू भाग का स्थानांतरण किया जाएगा। खनन पट्टा एक किमी लंबाई व चार किमी चौड़ाई का होगा।

अन्य खनिज भी मिले

शासकीय टीम ने पुलवर ब्लॉक, सलईयाडीह ब्लॉक, पटवध ब्लॉक, भरहरी ब्लॉक, हरदी ब्लॉक और छिपिया ब्लॉक के खनन स्थलों की भूमि का चिन्हीकरण का काम पूरा हो गया है। सोना पहाड़ी के अलावा हरदी ब्लॉक जहां पर सोना मिला है वहां की भूमि चिह्नित करने का काम प्राथमिकता में रखा गया है। इसके अलावा एंडालुसाइट, पोटाश, लोह अयस्क, सिलेमिनाइट आदि धातुओं की निकासी को लेकर भी शासन ने काम शुरू कर दिया है। इसके अलावा इस क्षेत्र में यूरेनियम के भंडार का भी अनुमान है जिसके लिए केंद्र सरकार की कुछ टीमें खोज में लग गई हैं।

Posted By: Rahul Vavikar