Madatory Six Airbags Rule: केंद्र सरकार ने गाड़ियों में 6 एयरबैग को अनिवार्य करने के प्रस्ताव को एक साल के लिए टाल दिया है। केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने गुरुवार को ट्वीट पर ये जानकारी देते हुए बताया कि सरकार ने कारों में 6 एयरबैग अनिवार्य करने के प्रस्ताव को 1 अक्टूबर 2023, एक साल तक के लिए टालने का फैसला किया है। आपको बता दें कि 6 एयरबैग का नियम 1 अक्टूबर से लागू होने वाला था। उन्होंने लिखा,"गाड़ी की लागत और वेरिएंट से ज्यादा मोटर गाड़ियों में यात्रा करने वाले सभी यात्रियों की सुरक्षा है। उनकी सुरक्षा ही हमारी प्राथमिकता है।"

कार कंपनियों मिली राहत

सरकार के ताजा फैसले से कई ऑटोमोबाइल कंपनियों को राहत मिल गई है। केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने पैसेंजर्स कारों में 6 एयरबैग्स की अनिवार्यता के प्रस्ताव को अगले साल के लिए टाल दिया गया है। मंत्रालय के मुताबिक अब ये नियम 1 अक्टूबर, 2023 से लागू किया जाएगा। नितिन गडकरी ने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा, "ऑटो इंडस्ट्री को ग्लोबल सप्लाई-चेन में आ रही बाधाओं का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे में इसके प्रभाव को देखते हुए पैसेंजर कार (M-1 कैटेगरी) में न्यूनतम 6 एयरबैग लागू करने के प्रस्ताव को 1 अक्टूबर, 2023 से लागू करने का निर्णय लिया गया है।"

सुरक्षा पर हो जोर: नितिन गडकरी

नितिन गडकरी ने पहले देश में कारों के लिए सुरक्षा मानदंडों को अपनाने की जरूरत पर जोर दिया था। उन्होंने इस बात पर जोर दिया था कि कार कंपनियों को छोटी कारों का इस्तेमाल करने वाले लोगों की सुरक्षा के बारे में भी सोचना चाहिए। उन्होंने कहा,"भारत में ज्यादातर ऑटोमोबाइल निर्माता 6 एयरबैग वाली कार एक्सपोर्ट कर रहे हैं। लेकिन भारत में भी ये सुविधा देने को लेकर, आर्थिक मॉडल और लागत के कारण, वे झिझक रहे हैं।"

वहीं टाटा ग्रुप के पूर्व चेयरमैन साइरस मिस्त्री की भीषण सड़क दुर्घटना में मौत के बाद सरकार ने इस पर ज्यादा ध्यान शुरु किया। इसके बाद से ही सितंबर की शुरुआत में कार में सभी यात्रियों के लिए सीटबेल्ट लगाना

अनिवार्य कर दिया था। यानी गाड़ी में अब पीछे वाली सीट वाले यात्रियों को भी सीटबेल्ट लगानी होगी। इस नियम को न मानने वालों और उल्लंघन करने वालों पर जुर्माना भी लगाया जाएगा।

लागत बढ़ने को लेकर जताई थी चिंता

मारुति के चेयरमैन आर सी भार्गव ने कहा था कि 6 एयरबैग्स लगाने से एंट्री-लेवल कार में 60 हजार रुपए तक की बढ़ोतरी हो जाएगी, जो किसी भी एंट्री लेवल कार के लिए बड़ा मार्जिन है। अभी एंट्री लेवल कार में सिर्फ 2 एयरबैग जोड़ने पर ही 30 हजार रुपए का खर्च आ रहा है। उन्होंने कहा कि इस वजह से कंपनी को अपने मॉडल के कुछ वैरिएंट को बंद करना पड़ सकता है। जिन कारों में अभी सिर्फ 2 एयरबैग आते हैं, उसमें स्ट्रक्चरल चेंजेस करने पड़ेंगे। इसके लिए एक्स्ट्रा निवेश भी करना होगा।

Posted By: Shailendra Kumar

Assembly elections 2021
elections 2022
  • Font Size
  • Close