नई दिल्‍ली। जीरो बैलैंस पर खाते खुलवाने और दो बीमा योजनाओं की सफलता को देखते हुए केंद्र सरकार एक और बड़ा कदम उठाने जा रही है। इसके तहत रिटायरमेंट सेविंग पर जोर देने के लिए पोस्‍ट ऑफिस के साथ ही किराना दुकानों और माेबाइल फोन के रीचार्ज की दुकानों आदि के जरिये अटल पेंशन योजना बेची जाएगी।

वित्‍त मंत्रालय 1.5 लाख पोस्‍ट ऑफिस के साथ किराना दुकानों और के‍मिस्‍ट की दुकानों से बात कर रही है कि वह मिनिमन रिटर्न के आश्‍वासन वाले पेंशन प्‍लान बेचें। सरकार को उम्‍मीद है कि किराना दुकानों और केमिस्‍ट की दुकानों के मालिकों के लिए पेंशन योजना को बेचना आसान होगा साथी ही उन्‍हें खड़ा करने के लिए कोई इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर कॉस्‍ट की जरूरत भी नहीं होगी।

यह भी पढ़ें : शनि शिंगणापुर के पुलिस थाने में ताले नहीं नट-बोल्‍ट से बंद होता है लॉक-अप

सूत्रों का कहना है कि डिपार्टमेंट ऑफ पोस्‍ट ने फैसला किया है कि वह अपने कोर बैंकिंग सॉफ्टवेयर के जरिये अटल पेंशन योजना को आगे बढ़ाएगा। यह जल्‍द ही अपना पेमेंट बैंक आपॅरेशन शुरू करने जा रहा है। एक अधिकारी ने बताया कि पोस्‍ट ऑफि‍स पेंशन योजना को थर्ड पार्टी प्रोडक्‍ट के तौर पर बेचेगा और उस पर उसे कुछ कमीशन हासिल होगा।

वित्‍त सेवा विभाग इस प्रोडक्‍ट की बिक्री के लिए वितरण के अन्‍य नेटवर्क पर भी ध्‍यान दे रहा है, जिसमें मोबाइल फोन के रीचार्ज कूपन बेचने वाले आउटलेट शामिल हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू किए गए ग्रुप इंश्‍योरेंस स्‍कीम या एक्‍सीडेंट कवर के विपरीत इस अटल पेंशन योजना की धीमी शुरुआत हुई है। कारण, अच्‍छे खासे पैसे वाले लोग भी इसे प्राथमिकता नहीं देते हैं।

यह भी पढ़ें : केरल के चर्च में रविवार को होगी हिंदी में प्रार्थना

जन सुरक्षा योजना के तहत 12.15 करोड़ पॉलिसी बेची गई, जिसमें से अटल पेंशन योजना की महज 11 लाख पॉलिसी ही बिकीं। वहीं 12 रुपए सालाना कीमत वाली 9.2 करोड़ एक्‍सीडेंट इंश्‍योरेंस पालिसी बिकीं। वहीं 12 रुपए महीने वाली जीवन बीमा पॉलिसी एक दिसंबर पर 2.86 करोड़ से अधिक बिक गईं थीं।

Posted By: