आज देश व दुनिया के लिए एक चौंकाने और सतर्क रहने की खबर सामने आई है। दक्षिण अफ्रीका में कोविड​​​​-19 के नए वैरियंट का पता चला है। इस वेरिएंट को B.1.1529 नाम दिया गया है। सबसे पहले वहां रिपोर्ट किए जाने के कारण इसे बोत्सवाना वेरिएंट भी कहा जा रहा है। यह खबर ऐसे समय में आई है जब दुनिया में कोरोनावायरस के मामलों में गिरावट देखी जा रही है और भारत में टीकाकरण अभियान भी अपनी तेज गति से चल रहा है। इसका पता चलते ही भारत सरकार तुरंत हरकत में आ गई है। इस क्रम में आज केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने सभी राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों के अतिरिक्त मुख्य सचिव/प्रधान सचिव/सचिव (स्वास्थ्य) को पत्र लिखकर आगाह किया है। उन्‍होंने कहा है कि "बोत्सवाना (3 मामले), दक्षिण अफ्रीका (6 मामले) में एक COVID-19 वेरिएंट 8.1.1529 के कुछ मामले सामने आए हैं। एक केस हांगकांग में भी आया है। हालांकि सरकार ने सभी राज्‍यों को सूचना देकर इस संभावित खतरे से आगाह कर दिया है। ऐसे में विदेशों से भारत आने वाले यात्रियों की जांच पर विशेष ध्‍यान दिया जाएगा।

वैज्ञानिकों के अनुसार नए कोविड -19 वेरिएंट में बड़ी संख्या में म्‍यूटेंट होने की आशंका है। बोत्सवाना, दक्षिण अफ्रीका और हांगकांग में इसकी सूचना मिली है। यह आगामी समय में चिंता का विषय बन सकता है। अभी तक कोरोनावायरस के केवल चार वेरिएंट को चिंताजनक बताया जाता है। इनमें अल्फा, लीनीएज बी.1.1.7, जिसे 'यूके संस्करण' भी कहा जाता है, बीटा, लीनीएज बी.1.351, जिसे 'दक्षिण अफ्रीका संस्करण' भी कहा जाता है, गामा, लीनीएज पी.1, जिसे 'ब्राजील संस्करण' भी कहा जाता है और डेल्टा, लीनीएज बी.1.617.2 के नाम शामिल हैं।

Posted By: Navodit Saktawat