केंद्र सरकार किसानों की आमदनी बढ़ाने के लिए लगातार प्रयास कर रही है। इसी कड़ी में अब 9 राज्यों के 5 करोड़ से ज्यादा किसानों को आधार बेस्ड डेटाबेस तैयार किया जा रहा है ताकि उन्हें सरकारी योजनाओं का लाभ दिया जा सके। इसके जरिए किसानों को उत्पादकता बढ़ाने के बारे में सुझाव भी दिए जाएंगे जिससे उनकी आमदनी बढ़ सके।

इस योजना में किसानों का Aadhaar बेस्ड डेटाबेस तैयार किया जा रहा है। कृषि विभाग के डिजिटल डिविजन के ज्वाइंट सेक्रेटरी विवेक अग्रवाल ने कहा कि यह डेटाबेस शीघ्र ही पूरा होने की उम्मीद है।

इस डेटाबेस में किसानों के खेतों की सैटेलाइट इमेजिंग होंगी। इसके आधार पर किसानों को सलाह दी जाएगी कि किस तरह फसलों की बुवाई करनी चाहिए और किस मौसम में किस फसल से ज्यादा मुनाफा कमाया जा सकेगा।

इस डेटाबेस को फार्म टेक्नोलॉजी कंपनियों के साथ भी साझा किया जा सकता है ताकि किसानों को उनसे नए सुझाव मिल सके।

इस डेटाबेस से किसानों का पैसा सीधे उनके खाते में ट्रांसफर करने में मदद मिलेगी। इससे डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर का क्रियान्वन हो पाएगा।

9.85 करोड़ किसानों को मिला पीएम किसान-स्कीम का लाभ:

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि स्कीम के अंतर्गत 9.85 करोड़ किसानों को लाभ मिल चुका है। सरकार की तरफ से 2000 रुपए की अगली किस्त अगस्त में दी जाएगी। इससे पहले किसानों को मोबाइल फोन पर एक जरूरी संदेश भेजा गया है। इसमें कहा गया कि वे अपने आवेदन की स्थिति रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर से हेल्पलाइन नंबर 011-24300606 पर फोन कर मालूम कर सकते हैं।

Posted By: Kiran K Waikar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना