Gujarat News:अहमदाबाद की जामा मस्जिद के शाही इमाम शब्बीर अहमद सिद्दीकी ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने चुनावों में मुस्लिम महिलाओं को टिकट देने पर आपत्ति जताई है। सिद्दीकी ने इसे इस्लाम के खिलाफ बगावत बताया है। साथ ही इस्लाम को कमजोर करने की साजिश करार दिया। शाही इमाम ने कहा, इस्लाम को कमजोर किया जा रहा है। क्या कोई आदमी नहीं है टिकट के लिए।

महिलाओं का इस्लाम में मकाम

शाही इमाम शब्बीर अहमद सिद्दीकी ने कहा कि अभी यहां लोग नमाज पढ़ रहे हैं। क्या एक भी महिला नजर आई। इस्लाम में सबसे ज्यादा अहमियत नमाज को है। यदि औरतों का इस तरह से लोगों के सामने आना इस्लाम में जायज होता तो उनको मस्जिद आने से नहीं रोका जाता। उन्होंने कहा, 'मस्जिद से क्यों रोक दिया गया, क्योंकि महिला का इस्लाम में एक मकाम है। इसलिए जो औरतों को टिकट देते हैं, वे इस्लाम के खिलाफ बगावत करते हैं। मर्द नहीं हैं क्या जो आप औरतों को ला रहे हैं। इससे इस्लाम कमजोर होगा, क्योंकि कर्नाटक में हिजाब का मसला हुआ।'

मतदान से पहले पुलिस अधिकारियों की बैठक

गुजरात विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण के मतदान से पहले पुलिस अधिकारियों ने बैठक की। डीसीपी कोमल व्यास ने बताया कि 10 हजार से ज्यादा मेन पावर, लगभग 60 हजार हॉम गार्ड, सेंट्रल फोर्स के 112 कंपनी यहां तैनात की गई है। संवेदनशील जगहों पर रूट मार्च, फ्लैग मार्च किया जा रहा है। उन्होंने कहा, 'वाहन चेकिंग की जा रही है। सभी लोग निष्पक्ष तरीके से मतदान कर पाएं। इसके लिए पुलिस मुस्तैदी के साथ तैनात की गई है।'

गाड़ियों में जीपीएस लगाकर मॉनिटिरिंग

एसपी प्रवीण कुमार ने कहा कि हमारी गाड़ियों में जीपीएस लगाया गया है। जिसकी मॉनिटिरिंग की जाएगी। उन्होंने कहा, 48 कंपनी आई हुई हैं। 2000 से अधिक पुलिस बल, होम गार्ड और CAPF तैनात हैं। 113 संवेदनशील बूथ हैं, जिसका ध्यान रखा जा रहा है। यदि कोई बोगस वोटिंग करेगा उसे लेकर भी व्यवस्था की गई है।

Posted By: Kushagra Valuskar

  • Font Size
  • Close