आगरा। सरकारी नौकरियों में 5 फीसदी आरक्षण की मांग को लेकर गुर्जर समुदाय ने शुक्रवार शाम को राजस्थान के सवाई माधोपुर जिले में मुंबई- दिल्ली रेलवे ट्रैक पर कब्जा कर लिया था। इस रूट से गुजरने वाली ट्रेनों को रेलवे प्रशासन ने सुरक्षित स्थानों पर रुकवा दिया। कई के रूट बदले गए तो कुछ ट्रेनें निरस्त कर दी गईं।

गुर्जर समाज के तेवरों के चलते दिल्ली- मुंबई ट्रेक भी बाधित हो गया है। आगरा- मथुरा रूट पर चलने वालीं आधा दर्जन ट्रेनें रद्द कर दी गई हैं तो कई ट्रेनों का रूट परिवर्तित कर दिया गया है।

बता दें गुर्जर आरक्षण आंदोलन के संयोजक कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला ने आठ फरवरी से आंदोलन का ऐलान किया था। सवाई माधोपुर जिले के मलारना गांव में पंचायत करने के बाद बैंसला ने समाज के लोगों को लेकर मलारना डूंगर और निमोदा रेलवे स्टेशनों के बीच पटरी पर कब्जा जमा लिया। सर्दी से बचने को ट्रेक पर जगह-जगह अलाव जला रखे हैं तो मकसूदनपुरा में पटरियों पर तंबू लगा दिये हैं।

ये ट्रेनें हुईं हैं रद्द

गुर्जर आंदोलन के चलते बांद्रा- कानपुर, मुंबई- जोधपुर, जनशताब्दी और निजामउद्दीन- अहमदाबाद ट्रेंन रद कर दी गई हैं।

इनका हुआ रूट डायवर्ट

इंदौर इंटरसिटी, अगस्त क्रांति, स्वराज एक्सप्रेस सहित कई अन्य ट्रेनों का रूट डायवर्ट कर दिया गया है।

आगरा- जयपुर हाइवे हो सकता है प्रभावित

बताया जा रहा है कि गुर्जर आंदोलन की आग सड़कों पर भी आ सकती है। विगत वर्षों में हुए आंदोलन हिंसा का रूप भी ले चुके हैं। कयास लगाए जा रहे हैं कि रेल पटरियों के साथ आंदोलनकारी आगरा- जयपुर हाइवे को बाधित कर सकते हैं।

Posted By: