देश में Coronavirus अपना कहर बरपा रहा है, हर रोज मिल रहे नए मामलों के कारण लोगों के मन में डर का माहौल है और ऐसे में सोशल मीडिया में कई तरह के दावे वायरल हो रहे हैं। इनमें रामायण के बाल कांड में बाल मिलने की बात कही जा रही है साथ ही शिव पुराण में कोरोना वायरस के जिक्र का दावा भी है। यहां तक कि कुरान में भी बाल मिलने का दावा किया जा रहा है। जहां एक तरफ लोग डरे हुए हैं वहीं सोशल मीडिया में वायरल हो रहे इन दावों पर यकीन भी कर रहे हैं। लेकिन इन दावों में कितनी सच्चाई है यह भी जानना जरूरी है। इसलिए हम आपको बताते हैं कि यह दावे कितने सच हैं और कितने नहीं।

रामायण के बाल कांड में बाल मिलने का सच

सोशल मीडिया के साथ ही शहरों और गांवों में यह खबर तेजी से वायरल हो रही है कि रामायण के बाल कांड में बाल मिल रहा है। यह बाल पवित्र है और इसका पानी पीने से कोरोना वायरस ठीक हो जाता है या होता ही नहीं। जब हमने पड़ताल की तो पाया कि ज्यादातर लोगों ने रामायण में बाल जैसी चीज मिलने के घटना को सही पाया। हालांकि, जैसा की दावा किया जा रहा था कि यह बाल रामायण के बाल कांड में मिल रहा है वो गलत है। पूरा रामायण चालने के बाद हमे भी इसमें एक छोटी सी बाल जैसी चीज मिली। हालांकि, जहां तक इससे कोरोना के ठीक होने या संक्रमण ना होने की बात है तो यह दावा पूरी तरह से गलत है। यह एक कोरी अफवाह है और इस पर यकीन करना आपके लिए खतरनाक साबित हो सकता है।

शिवपुराण में कोरोना वायरस के जिक्र की सच्चाई

सोशल मीडिया में इसके अलावा और दावा सोशल मीडिया में तेजी से वायरल हो रहा है और वो दावा है शिवपुराण में कोरोना वायरस और चीन में इसके पैदा होने के जिक्र का। सोशल मीडिया में इन दिनों एक तस्वीर वायरल हो रही है जिसे शिवपुराण की होने का दावा किया जा रहा है। इसमें जो मंत्र हैं उनमें जहां कोरोना वायरस के फैलने की बात है वहीं इससे बचाव के लिए भगवान शिव से प्रार्थना की गई है। साथ ही इसमें मांसाहार से वायरस के फैलने और चीन में इसके प्रसार का दावा है।

जब हमने इसकी सच्चाई का पता किया तो मालूम हुआ कि शिवपुराण में ऐसे कोई दोहे हैं ही नहीं। यह असल में किसी व्यक्ति द्वारा संस्कृत में स्वरचित दोहे हैं जिनका शिवपुराण से कोई संबंध नहीं है। यह दोहे और तस्वीर लोगों के बीच भ्रम फैलाने के लिए तैयार किए गए हैं।

कुरान में बाल निकलने की सच्चाई

इसी तरह से पिछले कुछ दिनों से कुरान में भी बाल निकलने के दावे सोशल मीडिया में वायरल हुए थे लेकिन इसमें भी कतई सच्चाई नहीं है।

Posted By:

fantasy cricket
fantasy cricket