नई दिल्ली/श्रीनगर। 73वें स्वतंत्रता दिवस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुरुवार को लगातार छठी बार लालकिले की प्राचीर से राष्ट्र को संबोधित करेंगे। उम्मीद की जा रही है कि वे जम्मू-कश्मीर में किए गए ऐतिहासिक बदलाव, देश की आर्थिक स्थिति व अन्य मसलों पर अपनी राय रखेंगे। लगातार दूसरी बार प्रधानमंत्री बनने के बाद लाल किले से यह उनका पहला भाषण होगा।

उधर जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक श्रीनगर के शेर-ए-कश्मीर स्टेडियम में तिरंगा फहराएंगे। कई योजनाओं का आगाज कर चुके पीएम पीएम नरेंद्र मोदी लाल किले से अपने पिछले भाषणों में स्वच्छ भारत, आयुष्मान भारत, अंतरिक्ष में देश के पहले मानव मिशन जैसी तमाम योजनाओं की घोषणा कर चुके हैं। वह इसी मंच से वह अपने नेतृत्व वाली सरकार का रिपोर्ट कार्ड भी पेश कर चुके हैं। हालिया लोकसभा चुनाव में भाजपा ने जबर्दस्त जीत हासिल कर लगातार दूसरी बार पूर्ण बहुमत से केंद्र में सरकार बनाई है।

भाजपा नेताओं का कहना है कि सरकार ने अपने बुनियादी एजेंडे में शामिल व सबसे विवादित अनुच्छेद 370 की समाप्ति पर जिस ढंग से संसद की मुहर लगवाई है, उससे सरकार की चाल-ढाल व पीएम मोदी के भाषण की ताल तय हो गई है।

अटलजी के बाद मोदी देंगे लगातार छठी बार

भाषण पीएम मोदी का 15 अगस्त को लालकिले से यह छठा भाषण होगा। यह दूसरा मौका है जब भाजपा के पीएम इस ऐतिहासिक इमारत से लगातार छठी बार संबोधित करेंगे। उनसे पहले अटल बिहारी वाजपेयी ने 1998 से 2003 तक लगातार छह बार लालकिले से देश को संबोधित किया था।

कश्मीर में जिलों से पंचायत तक लहराएगा राष्ट्रध्वज

राष्ट्रीय पर्व 15 अगस्त पर जम्मू-कश्मीर में सारे जिलों से लेकर पंचायतों तक राष्ट्रध्वज फहराया जाएगा। राज्यपाल मलिक श्रीनगर के शेर-ए-कश्मीर स्टेडियम में तिरंगा फहराएंगे। स्वतंतत्रता दिवस के मौके पर जम्मू-कश्मीर में सुरक्षा और कड़ी कर दी गई है। राज्य में अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद से वैसे भी कई पाबंदियां लागू हैं।

जम्मू-कश्मीर के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक मुनीर खान ने प्रेस कांफ्रेंस में बताया कि जम्मू क्षेत्र में पाबंदियां पूरी तरह हटा ली गईं हैं, जबकि कश्मीर में कुछ स्थानों पर ये जारी रहेंगी। राज्य में हालात पूरी तरह काबू में हैं। श्रीनगर व आसपास के कुछ क्षेत्रों में कुछेक घटनाएं हुईं, लेकिन उनसे वहीं निपट लिया गया। इनमें किसी को कोई बड़ी चोट नहीं आई।

Posted By: Arvind Dubey

fantasy cricket
fantasy cricket