Haridwar Kumbh Mela 2021: हरिद्वार में अगले साल होने वाले कुंभ मेले की तैयारियां जोरों पर है। हालांकि कोरोना काल में होने वाला इस आयोजन को लेकर आम जन के मन में कुछ शंकाएं भी हैं। इस बीच, अच्छी खबर यह है कि अब हरिद्वार जाए बिना ही यानी घर बैठे ही गंगा जल से स्न्नान किया जा सकता है और कुंभ का पुण्य हासिल किया जा सकता है। महिलाओं के एक स्वयं सहायता समूह ने इसकी योजना बनाई है। श्रद्धालुओं को घर बैठे कुंभ स्नान कराने के लिए बहदराबाद के समृद्धि प्रसाद ग्रोथ सेंटर से जुड़ी महिलाओं के स्वयं सहायता समूह ने अमृत स्नान योजना बनाई है। श्रद्धालुओं को डाक और कोरियर से हरकी पैड़ी स्थित ब्रह्माकुंड का जल, रुद्राक्ष और कुंभ प्रसाद की किट भेजी जाएगी। इससे उन्हें अपने घरों में ही कुंभ स्नान का पुण्य मिल सकेगा।

जानिए क्या है पूरी व्यवस्था, कैसे घर तक पहुंचेगा गंगा जल, कितना है शुल्क

समृद्धि प्रसाद ग्रोथ सेंटर की अध्यक्ष पूनम शर्मा के मुताबिक, कुंभ अमृत स्नान प्रसाद में श्रद्धालुओं के लिए 14 जनवरी को मकर संक्रांति पर पड़ने वाले कुंभ के पहले पर्व स्नान का गंगाजल ब्रह्माकुंड से भरा जाएगा। इस दिन ब्रह्म मुहूर्त में 108 मिली लीटर गंगाजल भरकर श्रद्धालुओं को भेजा जाएगा। कुंभ किट में गंगाजल, रुद्राक्ष की माला, मां मनसा देवी व मां चंडी देवी के आशीर्वाद स्वरूप सुहागिन महिलाओं के लिए सिंदूर, बिंदी, हरकी पैड़ी पर कुंभ स्नान करते संत-महात्माओं की तस्वीर, पंचमहाभोग प्रसाद, इलायची दाना तथा मुरमुरे का प्रसाद शामिल है। यह सभी सामान सेंटर में काम कर रहीं महिलाओं ने ही पैक किया है।

पूनम ने आगे बताया कि सुहागिन महिलाएं पांच बूंद गंगाजल में सिंदूर घोलकर स्वयं का और पूरे परिवार का तिलक कर सकती हैं। सेंटर सचिव अंजलि व कोषाध्यक्ष उर्मिला ने बताया अमृत प्रसाद की कीमत डाक खर्च सहित 151 रुपये, 501 रुपए और 1100 रुपए रखने पर विचार किया जा रहा है। फिलहाल अभी इस पर अंतिम फैसला नहीं लिया गया है।

Posted By: Arvind Dubey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Budget 2021
Budget 2021