कोरोना वायरस संक्रमण का खतरा हर दिन के साथ तेजी से बढ़ रहा है। देश के ज्यादातर राज्य में यह वायरस अपने पैर पसार चुका है। हरियाणा में भी कोरोना पॉजिटिव मरीज सामने आ चुके हैं। इसे देखते हुए हरियाणा सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। सरकार ने हाल ही में रिटायर होने वाले स्वास्थ्य सेवाओ से जुड़े सभी कर्मचारियों का कार्यकाल बढ़ाने का निर्णय लिया है। इसमें पैरा मेडिकल स्टॉफ भी शामिल हैं। गौरतलब है कि हरियाणा में अब तक कोरोना संक्रमित 18 मरीज सामने आ चुके हैं। लॉक डाउन के बाद लोगों को घरों में ही रहने की हिदायत भी सरकार द्वारा लगातार दी जा रही है।

हरियाणा में दुकानें खुलने का समय निर्धारित नहीं

हरियाणा में भी कोरोना वायरस संक्रमण के चलते जिंदगी पूरी तरह से थम चुकी है। आम लोगों को रोजमर्रा की सामग्री की किल्लत न हो इसके लिए फिलहाल सरकार ने किराना, दवा दुकानों सहित अन्य जरूरी सेवाओं की दुकानें खुलने का समय फिलहाल निर्धारित नहीं किया है। प्रशासन से कहा गया है कि वह दुकानों को ज्यादा देर के लिए खुला रहने दे। ऐसा करने के पीछे सरकार की मंशा दुकानों पर भीड़ न लगने देना है। अगर दुकानों का समय निर्धारित कर दिया जाता है तो तय समय में भीड़ उमड़ेगी और कोरना संक्रमण बढ़ने का खतरा पैदा हो जाएगा।

पुलिस की सख्ती भी आने लगी नजर

हरियाणा में लॉक डाउन का चौथा दिन शुरू हो चुका है। यहां जब लोग समझाइश से नहीं मान रहे हैं तो पुलिस ने सख्त रुख अपनाना भी शुरू कर दिया है। बेवजह सड़कों पर घूमने वाले लोगों को पुलिस अच्छ सबक भी सिखा रही है। बता दें कि हरियाणा में अब तक 18 पॉजिटिव केस सामने आ चुके हैं वहीं सरकार द्वारा लगभग 10 हजार लोगों की निगरानी की जा रही है।

14 अप्रैल तक रहेगा लॉक डाउन

कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए अब तक कोई भी वैक्सीन सामने नहीं आया है, ऐसे में फिलहाल इससे बचने के लिए Social Distancing ही एक मात्र उपाय नजर आ रहा है। यही वजह है कि केंद्र सरकार ने देश में 14 अप्रैल तक Lockdown की घोषणा कर दी है।

Posted By: Ajay Kumar Barve