गया। बिहार में लू का कहर जारी है। यहां दो दिन में 161 लोगों की मौत हो चुकी है। लगातार दूसरे दिन 101 लोगों की जान चली गई। रविवार को सिर्फ औरंगाबाद में 35 और मौत हुईं।

मगध के बाद शाहाबाद और पटना समेत अन्य जिलों से भी लू की खबरें आईं। पटना में छह, छपरा और बक्सर में तीन-तीन, शेखपुरा, नालंदा में दो-दो, और आरा, बेगूसराय में एक-एक की मौत हो गई।

पटना में गंगा पाथ वे प्रोजेक्ट में तैनात सुरक्षा जवान ठाकुर प्रसाद (50) जो मूल रूप से मध्य प्रदेश का रहने वाला था, की लू से मौत हो गई।

गया, नवादा और औरंगाबाद के विभिन्न अस्पतालों में तीन सौ से भी ज्यादा मरीज भर्ती हैं। गया में 24 और औरंगाबाद में 35 लोग मौत के शिकार हो चुके हैं। औरंगाबाद के जिलाधिकारी राहुल रंजन महिवाल ने 35 लोगों की मौत की पुष्टि की है।

नवादा में अभी तक छह लोगों की मौत की सूचना है। क्षेत्रीय स्वास्थ्य उप निदेशक डॉ. विजय कुमार ने कहा कि अभी तक उनके पास आए रिकार्ड में 54 लोगों की सूचना है, पर यह संख्या अधिक है।

डॉ. विजय कुमार ने इसे हीटस्ट्रोक (लू) ही बताया है। उन्होंने कहा कि लू की ही दवा दी जा रही है और कम प्रभावित मरीज ठीक भी हो रहे हैं।

सभी मरीजों के प्रारंभिक लक्षण यही हैं कि अचानक चक्कर आया और बुखार 105 डिग्री फारेनहाइट तक।

मगध प्रमंडल के आयुक्त पंकज कुमार पॉल ने हेलीकाप्टर से नवादा और औरंगाबाद का दौरा कर स्थिति का जायजा लिया। प्रमंडल में अलर्ट घोषित है। रविवार को शाहाबाद क्षेत्र में भभुआ और सासाराम से भी लू से मौत की सूचना आई है।


Posted By: Navodit Saktawat