श्रीनगर। आतंकी कमांडर बुरहान वानी की बरसी पर घाटी में अलर्ट जारी कर दिया गया है। किसी भी अप्रिय घटना से निपटने और कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए पर्याप्त संख्या में सुरक्षाबलों को तैनात करते हुए प्रशासन ने सभी एहतियाती कदम उठाना शुरू कर दिए हैं।

इस बीच कांग्रेस नेता सैफुद्दीन सोज का विवादास्पद बयान आया है। उन्होंने कहा कि मेरा बस चलता तो मैं बुरहान को जिंदा रखता और उससे बात करता। सोज के अनुसार कश्मीर भारत और पाकिस्तान के बीच दोस्ती का पुल है जिसे भारत तैयार कर सकता है और बुरहान इसमें मददगार साबित हो सकता था।

खबरों के अनुसार अलगाववादी और आतंकी संगठन बुरहान की बरसी के मौके को भुनाने की तैयारी में हैं। हुर्रियत नेताओं के अलाव आतंकी सैयद सलाहुद्दीन में 8 जुलाई को घाटी में बंद का आह्वान किया है।

गौरतलब है कि हिज्ब का पोस्टर ब्वाय बन चुके बुरहान को गत वर्ष आठ जुलाई को सुरक्षाबलों ने उसके दो अन्य साथियों संग मार गिराया था।

राज्य पुलिस के एक अधिकारी के अनुसार,हालात की लगातार समीक्षा कर सुरक्षा व्यवस्था को चाक चौबंद बनाते हुए सभी एहतियाती कदम उठाए जा रहे हैं। वादी के चार जिले पुलवामा, शोपियां, कुलगाम और अनंतनाग जो कि दक्षिण कश्मीर में आते हैं, ही आतंकी बुरहान की मौत के बाद से उपद्रवग्रस्त हैं। इन्हीं इलाकों में ज्यादा आतंकी हमले और पथराव की घटनाएं हुई हैं। प्रशासन ने एहतियात के तौर पर छह जुलाई से ही सभी स्कूलों में 10 दिवसीय अवकाश घोषित कर दिया है।

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Assembly elections 2021
Assembly elections 2021
 
Show More Tags