नई दिल्ली। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने लक्षद्वीप के दो छोटे द्वीपों अगाती और मिनिकॉय को भारत में प्रवेश और निकासी का आधिकारिक पारगमन (ट्रांजिट) केंद्र घोषित किया है। अगाती का क्षेत्रफल 3.84 वर्ग किमी और मिनिकॉय का 4.80 वर्ग किमी है। मिनिकॉय सबसे व्यस्त शिपिंग मार्ग के निकट है और मालदीव के उत्तरी द्वीप से 130 किमी दूर है।

गृह मंत्रालय की अधिसूचना में कहा गया है कि इन दोनों द्वीपों पर आव्रजन चेक पोस्ट बनाया गया है। किसी भी श्रेणी का यात्री वैध यात्रा दस्तावेज दिखाकर यहां से भारत में प्रवेश कर सकता है। इसमें 30 जून 2015 से लक्षद्वीप के पुलिस अधीक्षक को आव्रजन जांच के लिए "प्रशासनिक प्राधिकरण" नियुक्त किया गया है।

मंत्रालय के अनुसार इन दोनों प्रवेश बिंदुओं से जहाज मुख्यतः लग्जरी क्रूज को भारत प्रवेश में आसानी होगी। उन्हें भारत में प्रवेश और निकासी में कम समय लगेगा।

देश में 82 आव्रजन केंद्र

देश में अभी 82 आव्रजन केंद्र काम कर रहे हैं। इनमें से 37 आव्रजन ब्यूरो के तहत काम कर रहे हैं। शेष स्थानीय राज्य सरकारों के तहत काम कर रहे हैं।

इसके अलावा दिल्ली, मुंबई, कोलकाता, चेन्नाई, अमृतसर, बेंगलुरु, हैदराबाद, कालीकट, कोच्चि, तिरुवनंतपुरम, लखनऊ और अहमदाबाद में 12 क्षेत्रीय विदेशी पंजीकरण ऑफिस काम कर रहे हैं।

11 स्थानों पर मुख्य आव्रजन ऑफिस हैं। अन्य स्थानों पर वहां के संबंधित पुलिस अधीक्षक या नियुक्त अधिकारी विदेशी पंजीकरण कार्यालय के लिए काम कर विदेशी यात्रियों की मदद करते हैं।

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020