ओपी वशिष्ठ, रोहतक। साध्वी दुष्कर्म और पत्रकार हत्याकांड के दोषी डेरा सच्चा सौदा सिरसा के प्रमुख गुरमीत सिंह से उसकी मुंह बोली बेटी हनीप्रीत की मुलाकात 835 दिनों के बाद हुई। डेरा सच्चा सौदा प्रमुख इस समय रोहतक की सुनारिया जेल में बंद है। 25 अगस्त 2017 से जेल में बंद गुरमीत के बदले स्वरूप को देखकर एक बार तो यकीन ही नहीं हुआ। मगर जब मलाकात का दौर शुरू हुआ तो वह फूट-फूटकर रोने लगी। करीब आधा घंटा बातचीत के दौरान कई बार दोनों काफी भावुक भी हो गए। सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए हनीप्रीत की डेरामुखी से होने वाली मुलाकात को पूरी तरह से गोपनीय रखा गया था।

हनीप्रीत सोमवार दोपहर करीब 2.30 बजे सुनारिया जेल में पहुंची थी। हनीप्रीत के साथ डेरा की चेयरपर्सन शोभा गेरा, चरणजीत व दो वकील भी साथ थे। लोहे की ग्रिल, शीशे और जाली के अंदर से गुरमीत सिंह देखकर हनीप्रीत को एक बार तो यकीन ही नहीं हुआ, क्योंकि जेल में आने से पहले गुरमीत का वजन सौ किलो ग्राम से भी ज्यादा था और उसकी दाढ़ी काली थी। अब गुरमीत का 15 से 20 किलो वजन कम हो चुका है और दाढ़ी भी पूरी सफेद हो गई है। डेरामुखी का बदला स्वरूप देखकर हनीप्रीत खुद को रोक नहीं सकी और उसकी आंखों में आंसू आ गए। वह फूट-फूट कर रोने लगी। हनीप्रीत ने किसी तरह खुद को संभाला क्योंकि मुलाकात का समय भी निर्धारित था।

हनीप्रीत डेरा प्रमुख से मिलने के प्रयास कर रही थी, लेकिन सिरसा पुलिस प्रशासन ने कानून व्यवस्था बिगड़ने का हवाला देकर मुलाकात नहीं कराने की रिपोर्ट दी। अब जेल मैनुअल के मुताबिक हनीप्रीत की सोमवार को गुपचुप तरीके से मुलाकात करवा दी गई।

Posted By:

fantasy cricket
fantasy cricket