Hyderabad Encounter: हैदराबाद में महिला डॉक्टर के चारों आरोपी पुलिस एनकाउंटर (Police Encounter) में मारे गए। अब उनके परिजन पुलिस कार्रवाई पर सवाल उठा रहे हैं। कह रहे हैं कि उन्हें जिंदगी भर जेल में रखते, डॉग फूड देते, लेकिन एनकाउंटर क्यों किया। वहीं एक आरोपी की पत्नी प्रेगनेंट है। एनकाउंटर की खबर मिलने के बाद से महिला का हाल बुरा है। वह बार-बार यही कह रही है कि उसे भी वहीं ले जाकर गोली मार दी जाए, जहां उसके पति को मारा गया। दोनों ने एक साल पहले ही लव मैरिज की थी। परिजन के मुताबिक, पुलिस ने हमें अपने बच्चों से आखिरी बार मिलने का मौका भी नहीं दिया। कहा गया था कि उनकी 14 दिन की रिमांड पूरी होने के बाद हम उनसे मिल सकेंगे, लेकिन अब मार दिया गया। मारने से पहले भी हमें सूचना दे देते तो हम उन्हें आखिरी बार देख तो लेते।

वहीं मुख्य आरोपी की मां कुछ भी कहने की स्थिति में नहीं है। जब उन्हें यह जानकारी दी गई और बात करने की कोशिश की गई तो बोली- मैंने अपना बेटा खो दिया है। अब मैंं क्या बोलूं। गांव के लोग क्या कहेंगे? हम बहुत गरीब हैं। दिहाड़ी मजदूरी करके पेट पालते हैं। भगवान ने जो सजा दी वो मंजूर, लेकिन यह दोष उसके दोस्तों का है। बुरी संगत उसे ले डूबी। वहीं एक अन्य आरोपी के पिता कहना है कि उनके बेटे को ही इस तरह क्यों मारा गया।

बता दें, तेलंगाना के हैदराबाद में 25 साल ही महिला डॉक्टर के साथ सामूहिक दुष्कर्म और जलाकर हत्या करने के चारों आरोपी शुक्रवार तड़के पुलिस के साथ हुई मुठभेड़ में मारे गए। मामले में पुलिस की तारीफ तो खूब हो रही है, लेकिन बिना कोर्ट कार्रवाई के सजा पर चिंता भी जताई जा रही है।

Posted By: Arvind Dubey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना