नागपुर से हैदराबाद जा रहे एक एयर एंबुलेस C-90 VT-JIL की गुरुवार को मुंबई में इमरजेसी लैंडिंग करवानी पड़ी। इस घटना में किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है, लेकिन यह लैंडिंग हैरतअंगेज थी।

जानकारी के अनुसार एयर एंबुलेस C-90 VT-JIL मरीजों को लेकर नागपुर से हैदराबाद जा रहा था। विमान ने जैसे ही नागपुर से टेकऑफ किया उसका अगला पहिया खुलकर गिर गया। पहिया गिरते ही तुरंत इमरजेंसी घोषित कर दी गयी और विमान को मुंबई डायवर्ट कर दिया गया। यहां विमान की इमरजेंसी लैंडिंग करायी गई।

बेली लैंडिंग से टली दु्र्घटना

जब भी किसी प्लेन का अगला पहिया निकल जाता है तब उसकी लैंडिंग के दौरान दुर्घटना की आशंका बढ़ जाती है। खासकर आग लगने का खतरा सबसे ज्यादा होता है। ऐसे में विमान की बेली लैंडिग करायी गई। बैली लैंडिंग में लैंडिंग गियर का प्रयोग नहीं किया जाता है यानी कि जब अगला पहिया गिर गया तो विमान की बॉडी को जमीन पर उतारा गया। इसमें विमान के क्षतिग्रस्त होने उसमें आग लगने का खतरा होता है।

जब एक्सपर्ट यह लैंडिंग कराते हैं तो स्थिति नियंत्रण में रहती है। यही वजह है कि जैसे ही विमान की लैंडिंग हुई एयरपोर्ट के कर्मचारी आगजनी या किसी दूसरी स्थिति से निपटने के लिए तैयार थे। इसी वजह से कोई हादसा नहीं हुआ।

Posted By: Sandeep Chourey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags