आगरा। आगरा मे एक शख्स को अपनी बीवी को तीन तलाक देना महंगा पड़ गया। पुलिस ने शौहर को गिरफ्तार करते हुए जेल भेज दिया। आगरा में तत्काल तीन तलाक के पहले मुकदमे के साथ ही यह पहली गिरफ्तारी भी है। दंपती ने सात महीने पहले ही प्रेम विवाह किया था। कारोबारी ने बीवी को मोबाइल पर मायके वालों से बात करने पर प्रतिबंध लगा रखा था। खंदारी निवासी फरहीन का निकाह सात महीने पहले लोहामंडी निवासी जमीरउद्दीन के साथ हुआ था। रविवार को थाने पहुंची फरहीन ने शौहर पर तत्काल तीन तलाक देकर घर से निकालने का आरोप लगाया।

पुलिस ने कारोबारी के खिलाफ मुस्लिम महिला (विवाह अधिकार संरक्षण) अधिनियम, दहेज उत्पीड़न और मारपीट के आरोप में मुकदमा दर्ज कराया था। पुलिस द्वारा गिरफ्तार शौहर ने पूछताछ में बताया कि दोनों ने अपने परिवार वालों की मर्जी के खिलाफ प्रेम विवाह किया था। मायके वालों से बातचीत पर प्रतिबंध लगाने से बीवी से उसका झगड़ा होने लगा। इस पर शौहर ने उसे तत्काल तीन तलाक दे दिया। इंस्पेक्टर लोहामंडी नरेंद्र शर्मा ने बताया कि आरोपित को कोर्ट में प्रस्तुत करने के बाद जेल भेज दिया गया।

Posted By: Yogendra Sharma

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस