बरेली। बरेली सिटी स्टेशन पर मंगलवार रात बिना इंजन के दो कोच कई मीटर तक दौड़ गए। रेलकर्मियों ने ट्रैक पर पत्थर डालकर इंजन रोका। मामला इज्जतनगर रेल मंडल के आला अधिकारियों तक पहुंचा तो बरेली सिटी स्टेशन अधीक्षक समेत चार लोगों को निलंबित कर दिया गया।

यह था पूरा घटनाक्रम

जानकारी के अनुसार, टनकपुर से दो कोच मरम्मत के लिए इज्जतनगर रेल कारखाना जाने थे। रात में कोच बरेली सिटी स्टेशन की रेललाइन नंबर दो पर खड़े थे।

दोनों कोच की शंटिंग के लिए लोको पायलट इंजन लेकर लाइन नंबर तीन से दो पर आया। शंटिंग करने के लिए रेलकर्मी कोचों की रेल इंजन से कपलिंग करने जा रहे थे।

इसी दौरान रेल इंजन से दोनों कोच को झटका लगा। इससे कोच बिना इंजन के ही बरेली जंक्शन की दिशा में दौड़ने लगे। शंटिंग कर रहे रेलकर्मी ने स्टेशन अधीक्षक को जानकारी दी।

शंटिंगकर्मी अन्य रेलकर्मियों के साथ कोच रोकने के लिए दौड़े। तब तक कोच प्वाइंट पार कर कई मीटर आगे जा चुका था।

आखिर पत्‍थर डालकर रोका

रेलकर्मियों ने रेल ट्रैक पर पत्थर डालकर बरेली जंक्शन लाइन के एडवांस सिग्नल के पास दोनों कोच रोके। मामले की जानकारी इज्जतनगर कंट्रोल रूम दी गई। इसके बाद एडीआरएम (ऑपरेटिंग) अजय वार्ष्णेय समेत अन्य मंडलीय अधिकारी घटनास्थल पर पहुंचे।

लोको पायलट को दोषी पाया

यातायात निरीक्षक से तत्काल जांच कर रिपोर्ट देने को कहा। इसमें लोको पायलट को दोषी पाया गया। जनसंपर्क अधिकारी राजेंद्र सिंह ने बताया कि एडीआरएम अजय वार्ष्णेय ने घटना के बाद बरेली सिटी स्टेशन अधीक्षक निर्मल चंद्र, इंजन ड्राइवर वीरेंद्र कुमार, दो प्वाइंट मैन रेनू पासवान और प्रभात चंद्र सक्सेना को निलंबित कर दिया।