India China Border: भारत के खिलाफ चीन की हरकतें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। लद्दाख में भारतीय सैनिकों के हाथों मुंह की खाने के बाद चीन ने समुद्री सीमा पर भी खुराफात शुरू कर दी है। ताजा खबर यह है कि पिछले महीने चीनी सेना ने समुद्र के रास्ते भारत में घुसने की कोशिश की। हालांकि इंडियन नेवी ने इस कोशिश को नाकाम कर दिया। अब पूरी समुद्री सीमा पर नजर रखी जा रही है। चीनी पनडुब्बियों ने पिछले महीने भारत सीमा में प्रवेश किया। भारतीय नेवी के युद्ध पोत की इन पर नजर पड़ी तो पीछे हटाना पड़ा।

एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, चीन के युआन वांग-क्लास पोत ने अगस्त में मलक्का जलडमरूमध्य से भारतीय जल में प्रवेश किया। क्षेत्र में तैनात भारतीय नौसेना के जहाजों की लगातार निगरानी में रहने के बाद कुछ दिनों पहले यह जहाज चीन लौट गया। पिछले साल दिसंबर में भी ऐसी हरकत की गई थी।

संयम और शौर्य से मुकाबला कर रही भारतीय सेना

भारत ने चीन की हर हरकत पर पैनी नजर रखी हुई है। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने संसद को बताया है कि भारतीय सैनिक संयम और शौर्य के साथ चीन को जवाब दे रहे हैं। वहीं विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने गुरुवार को बताया कि चीन को पूर्वी लद्दाख में टकराव के सभी बिंदुओं से अपनी सेनाओं को हटाने की प्रक्रिया शुरू करनी चाहिए। सीमा पर एकतरफा तरीके से यथास्थिति को बदलने की कोशिश उसे नहीं करनी चाहिए।

बकौल श्रीवास्तव, दोनों पक्षों को तनाव कम करने पर ध्यान देना चाहिए और तनाव बढ़ाने वाली किसी भी गतिविधि से बचना चाहिए। उन्होंने बताया कि चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) ने पिछले तीन हफ्ते में पैंगोंग झील के उत्तरी व दक्षिणी किनारों पर तीन बार उकसावे वाली हरकत की है। वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर 45 साल में पहली बार गोलियां चली हैं।

Posted By: Arvind Dubey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस