नई दिल्‍ली। पाकिस्तान की बैखलाहट लगातार बढ़ती जा रही है। अब उनसे दोनों देशों के बीच आजादी के बाद से जारी डाक सेवा पर रोक लगा दी है। यह पहला मौका है जब पाकिस्तान ने यह सेवा रोकी है। जानकारी के मुताबिक, डेढ़ महीने से पाकिस्तान ने भारत से कोई चिट्ठी नहीं ली है।

इतिहासकारों के मुताबिक, दोनों देशों ने अब तक तीन जंग लड़ी हैं, करगिर युद्ध के बाद भी डाक सेवा जारी रही थी। लेकिन अब खबर है कि पाकिस्तान ने आखिरी बार 27 अगस्त को भारत से डाक ली थी। भारत में डाक सेवाओं के निदेशक (मेल एंड बिजनेस डेवलपमेंट) आरवी चौधरी के मुताबिक, भारत की ओर से सेवा चालू है, लेकिन पाकिस्तान ने एकतरफा फैसला करते हुए डाल लेने से इन्कार कर दिया है। अभी कहा नहीं जा सकता ऐसा कब तक चलेगा।

दिल्ली एफपीओ के अधीक्षक सतीश कुमार का कहना है कि पाकिस्तान जाने वाले ज्यादातर चिट्ठियां पंजाब और जम्मू और कश्मीर से होती है।

इस बीच, भारत ने पाकिस्तान के इस कदम को एकतरफा बताा है। केंद्रीय दूरसंचार मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा, बिना पूर्व सूचना के पाकिस्तान ने भारत को पत्र और डाक भेजने पर रोक लगा दी। हर देश विश्व डाक संघ के तहत काम करता है, लेकिन पाकिस्तान ने इसके नियमों का भी उल्लंघन कर दिया है।

बता दें, भारत ने पाकिस्तान स्थित आतंकी ठिकानों पर एक बार फिर सैन्य कार्रवाई करते हुए कई आतंकियों को मार गिया है। कश्मीर मुद्दे पर किसी देश ने पाक का साथ नहीं दिया और अब कश्मीर में सेना की सख्ती कारण वह अपने आतंकी मंसूबों को अंजाम नहीं दे पा रहा है।

Posted By: Arvind Dubey