नई दिल्ली। भारत फ्रांसीसी कंपनी दासौ एविएशन से पहला राफेल लड़ाकू विमान आठ अक्टूबर को दशहरे के मौके पर फ्रांस से लेगा। हालांकि इन लड़ाकू विमानों की पहली खेप अगले साल मई में ही भारत को मिलेगी। रक्षा सूत्रों ने मंगलवार को बताया कि पहला राफेल विमान हासिल करने के लिए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह का वरिष्ठ अधिकारियों की टीम के साथ फ्रांस जाने का प्रोग्राम है। भारत ने दासौ एविएशन के साथ भारतीय वायुसेना के लिए 36 राफेल विमान खरीदने का सौदा किया है।

पूर्व की योजना के अनुसार भारत को पहला राफेल विमान सितंबर के आखिरी सप्ताह में सौंपा जाना था। विमान लेने के लिए राजनाथ सिंह के साथ वायुसेना अध्यक्ष बीएस धनोआ का जाने का कार्यक्रम था। लेकिन इस कार्यक्रम के लिए आठ अक्टूबर का दिन इसलिए चुना गया है क्योंकि इस दिन वायुसेना दिवस होने के साथ-साथ दशहरा भी है।गौरतलब है राफेल की पहली स्क्वाड्रन अंबाला एयरफोर्स स्टेशन पर तैनात की जाएगी जो भारत-पाक सीमा से 250 किमी दूर है। जबकि दूसरी स्क्वाड्रन बंगाल के हासिमारा बेस पर तैनात की जाएगी जो भारत-भूटान सीमा के नजदीक है।

Posted By: Yogendra Sharma

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Ram Mandir Bhumi Pujan
Ram Mandir Bhumi Pujan