जम्मू। जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में पाकिस्तानी सेना की ओर से रविवार सुबह किए गए संघर्ष विराम उल्लंघन के बाद भारतीय सेना के मुंहतोड़ जवाबी कार्रवाई की है। हमले में पीओके में स्थित आतंकी शिविरों को बड़े पैमाने पर नुकसान हुआ है। पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता ने बताया कि भारतीय गोलीबारी में उसके तीन सैनिकों की मौत हो गई है। सूत्रों के हवाले से बताया जा रहा है कि मारे गए पाकिस्तानी सैनिकों की संख्या 11 हो सकती है। वहीं, 22 आतंकी भी ढेर हो गए हैं। भारतीय सेना ने आर्टिलरी गन (तोपखाने) का इस्तेमाल कर पाकिस्तानी इलाके में स्थित आतंकी घुसपैठियों के सात कैंपों को तबाह कर दिया है।

भारतीय सेना ने पीओके के अंतमुकाम में पाक सेना के हेडक्वार्टर पर जवाबी कार्रवाई की और पाकिस्तानी तोपखाने को भी तबाह किया गया है। बताते चलें कि पाकिस्तान की ओर से सुबह की गई गोलीबारी में एक नागरिक की मौत हो गई थी और दो सैनिक शहीद हो गए थे। इसके साथ ही सेना के तीन जवानों सहित आठ लोग पाकिस्तानी गोलीबारी में घायल हुए थे।रविवार सुुबह से ही कुपवाड़ा के तंगहर सेक्टर में पाकिस्तान की तरफ से लगातार सीजफायर करते हुए गोलीबारी की जा रही थी।

इसका मुंहतोड़ जबाव देते हुए भारतीय सेना ने POK में स्थित आतंकी शिवरों की पहले जानकारी जुटाई, और फिर उन पर मोर्टार दागे। बताया जा रहा है कि संघर्ष विराम का उल्लंघन कर पाकिस्तान इन शिविरों के जरिये ही भारत में आंतकियों की घुसपैठ कराने की कोशिश कर रहा था।

पाकिस्तानी गोलीबारी की वजह से भारतीय इलाके में दो घर भी क्षतिग्रस्त हो गए थे। पिछले सप्ताह बारामूला और राजौरी में एलओसी पर पाकिस्तान द्वारा गोलीबारी किए जाने के बाद अलग-अलग घटनाओं में सेना के दो जवान शहीद हो गए थे।

बताते चलें कि अगस्त में जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा दिए जाने वाले अनुच्छेद 370 और 35ए को खत्म किए जाने के बाद से पाकिस्तान की तरफ से संघर्ष विराम के उल्लंघन की घटनाओं में तेजी आई है।

Posted By: Shashank Shekhar Bajpai