जम्मू। जम्मू कश्मीर पीपुल्स मूवमेंट लीडर शेहला राशिद के आरोपों को भारतीय सेना ने सिरे से खारिज कर दिया है। आर्मी ने सभी आरोपों को आधारहीन करार दिया है। शेहला ने कई ट्वीट कर आरोप लगाया था कि भारतीय सेना द्वारा कश्मीरियों को प्रताड़ित किया जा रहा है। लड़कों को पूछताछ के लिए उठाया जा रहा है और उन्हें जमकर टॉर्चर किया जा रहा है।

शेहला के आरोपो को लेकर आर्मी की ओर से बयान जारी किया गया है जिसमें कहा गया है कि 'शेहला राशिद द्वारा लगाए गए सभी आरोप निराधार हैं और उन्हें खारिज किया गया है। इस तरह की फर्जी खबरें असामाजिक तत्वों और संगठनों द्वारा जनता को बरगलाने के लिए फैलाई जा रही हैं।'

बता दें कि रविवार को राशिद ने एक के बाद एक कई ट्वीट किए थे उसमें उन्होंने कहा है कि 'लोग कह रहे हैं कि जम्मू और कश्मीर पुलिस के पास लॉ एंड ऑर्डर सिचुएशन को हैंडल करने के लिए कोई अथॉरिटी नहीं है। वे बिना शक्ति के इधर उधर घूम रहे हैं। सभी कुछ पैरामिलिट्री फोर्स के हाथों में है। CRPF जवान की शिकायत पर एक SHO का तबादला कर दिया गया। SHO के हाथों में मशालें हैं। सर्विस रिवॉल्वर उनके पास नजर नहीं आ रही हैं।'

दूसरी पोस्ट में शेहला ने लिखा कि 'आर्मी जवान लोगों के घरों में रात में घुस रहे हैं। लड़कों को उठा रहे हैं। घर के राशन को जमीन पर बिखेर रहे हैं। चावल में तेल मिला रहे हैं।'

केंद्र सरकार द्वारा हाल ही में जम्मू कश्मीर से विशेष राज्य का दर्जा वापस लेते हुए उसे केंद्र शासित प्रदेश बना दिया गया है। इसके बाद से ही कश्मीर में एक वर्ग इसके खिलाफ हो गया है। इसके मद्देनजर घाटी में सुरक्षा इंतजाम काफी कड़े कर दिए गए हैं।