Coronavirus के चलते भारत में दहशत का माहौल बना हुआ है। हालांकि सरकार की ओर से उठाए जा रहे त्वरित कदमों की वजह से अब तक स्थिति पूरी तरह से काबू में नजर आ रही है। कोरोना वायरस न फैले इसके लिए Indian Railways भी पहले ही एहतियातन कदम उठा चुका है। इसी कड़ी में भारतीय रेल ने एसी कोच में सफर करने वाले यात्रियों को ओढ़ने के लिए कंबल देने पर रोक लगा दी थी, इसके बाद रेल प्रबंधन द्वारा एसी कोच में लगे पर्दों को हटाने का निर्णय लिया गया था। अब इससे एक कदम आगे बढ़ते हुए सेंट्रल रेलवे जोन ने एसी कोच में मिलने वाले कंबल और चादर सहित अन्य सामग्रियों से वायरस को खत्म करने के लिए स्पेशल ड्रायर्स का उपयोग करने का निर्णय लिया है।

जागरुक करने लगाए नोटिस

इसके पूर्व साउथर्न रेलवे, वेस्टर्न रेलवे और नॉर्थर्न रेलवे पहले ही ट्रेन के एसी कोचों में से कंबल उपलब्ध कराने पर रोक लगा चुके हैं। इसके साथ ही लोगों को जागरुक करने के लिए सेंट्रल रेलवे द्वारा नोटिस लगाए गए हैं जिसमें कहा गया है 'व्यक्तिगत सुरक्षा एवं स्वच्छता बरकरार रखने के लिए बेडरोल के साथ कंबल नहीं दिए जाएंगे। जो यात्री इसके बाद भी कंबल की मांग करते हैं वे कृपया अटेंडेंट के पास एप्रोच करें।'

सेंट्रल रेलवे ने पहल करते हुए यात्रा के दौरान ही कंबल और अन्य लिनेन को साफ करने का कदम उठाया है। रेलवे की लॉन्ड्री में उच्च तापमान पर ड्रायर्स की मदद से कंबलों को साफ किया जाएगा, जिससे उसमें मौजूद कोई भी वायरस नष्ट हो सके। यह तापमान 75-80 डिग्री तक बढ़ाया जाएगा।

रेलवे ने यह भी कहा कि यात्रियों द्वारा उपयोग किए गए कंबलों को एक अलग लिनेन बैग में सेग्रिगेट किया जाएगा। इन्हें दोबारा किसी अन्य यात्रियों को देने से पहले उसकी उच्च तापमान में सफाई की जाएगी।

Posted By: Neeraj Vyas

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस