नई दिल्ली। अगर कोई यात्री स्टेशन पर लगी प्लास्टिक बोतल क्रशिंग मशीन का उपयोग करता है तो रेलवे उसके फोन को रिचार्ज करने में मदद करेगा। नई दिल्ली। रेलवे ने प्लास्टिक मुक्त भारत की दिशा में एक अनोखी पहल की है। इसके अनुसार यदि मुसाफिर स्टेशन पर लगी प्लास्टिक बोतल क्रशिंग मशीन का उपयोग करता है तो रेलवे उसके फोन को रिचार्ज करने में मदद करेगा। गौरतलब है स्वतंत्रता दिवस पर दिए गए भाषण में पीएम मोदी ने राष्ट्र से एकल उपयोग वाले प्लास्टिक को खत्म करने और प्राथमिकता पर पानी वाली प्लास्टिक की बोतलों का विकल्प खोजने की अपील की थी।

रेलवे ने निर्देश जारी किया है कि इस साल दो अक्टूबर से उसके परिसर में एकल उपयोग वाले प्लास्टिक का उपयोग नहीं किया जाएगा। रेलवे बोर्ड के चेयरमैन वीके यादव ने कहा कि स्टेशनों पर 400 प्लास्टिक बोतल क्रशिंग मशीन लगाई जाएंगी। यदि कोई यात्री उपयोग करना चाहता है तो उसे मशीन में सिर्फ अपना फोन नंबर डालना होगा और उसका फोन रिचार्ज हो जाएगा।

हालांकि अभी तक यह स्पष्ट नहीं है कि कितनी राशि का रिचार्ज यात्री को मिलेगा, गौरतलब है कि वर्तमान में 128 स्टेशनों पर 160 क्रशिंग मशीनें लगी हुई हैं। उन्होंने यह भी कहा कि सभी रेलवे कर्मचारियों को निर्देश दिए गए हैं कि वे रेलवे स्टेशनों पर इस्तेमाल की जाने वाली सभी प्लास्टिक की बोतलों को इकट्ठा करें और उन्हें री-साइक्लिंग के लिए भेजें।

इससे पहले मंत्रालय ने अपने सभी कर्मचारियों को निर्देश जारी करके कहा था कि वे पुन: प्रयोग वाले बैग का उपयोग करें। दो अक्टूबर को एकल उपयोग वाले प्लास्टिक के उपयोग में कमी लाने का संकल्प दिलाया जाएगा।

Posted By: Yogendra Sharma