मल्‍टीमीडिया डेस्‍क। चक्रवाती तूफान फानी को लेकर महत्वपूर्ण जानकारी सामने आई है कि तूफान की भयावहता और उसकी गति पर नज़र रखने के लिए भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) ने अपने 3 सैटेलाईट्स तैनात किए।

इसरो द्वारा प्रक्षेपित इन सैटेलाइट्स की सहायता से फानी की गति के प्रति 15 मिनट के डाटा को भी ग्राउंड स्टेशन तक भेजने में सफलता मिलती रही। फानी की हर हलचल को जानने और फानी से आए मौसमी बदलाव संबंधी भविष्यवाणी किए जाने के कारण कई जिंदगियां बचाई जा सकीं।

गौरतलब है कि लगभग एक सप्ताह पू्र्व खगोलशास्त्रीयों द्वारा हिंद महासागर में आए बदलावों का अध्ययन किया गया था। पांच भारतीय सैटेलाइट्स ने इन पर सतत निगाह बनाए रखी।

आईएमडी की जानकारी के अनुसार इनसैट 3 डी, 3 डीआर, स्काट सैट 1, ओशन सैट 2 व मेघा टारपिक्स का उपयोग फानी की इंटेंसिटी लोकेशन व बादलों का रुख देखने के लिये किया गया।

यूएन ने भी सराहा

फानी का कहर थम जाने के बाद रेल सेवाएं बहाल हो चुकी हैं, भुवनेश्वर एयरपोर्ट को लोगों की आवाजाही के लिए खोल दिया गया है। यूएन ने भारत के प्रयासों की सराहना की। एनडीआरएफ के दल ने राहत व बचाव कार्य में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। लगभग 1.2 मिलियन लोगों को सुरक्षित स्थानों तक पहुंचा दिया गया।

Posted By: Lav Gadkari

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020