हरियाणा की वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी भारती अरोड़ा ने कृष्ण की भक्ति करने के लिए VRS मांगा है। वो मीरा बनकर कृष्ण की सेवा करना चाहती हैं। अपनी 23 साल की सर्विस में लगातार सुर्खियां बटोरने वाली भारती अंबाला रेंज में पुलिस महानिरीक्षक के रूप में तैनात हैं। उनका कहना है कि वो अपना शेष जीवन भगवान श्रीकृष्ण की सेवा में समर्पित करना चाहती हैं। उन्होंने मुख्य सचिव को पत्र लिखकर स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति मांगी है।भारती ने पुलिस महानिदेशक मनोज यादव के माध्यम से मुख्य सचिव विजय वर्धन को पत्र भेजा है। इस पत्र में उन्होंने लिखा है, "मैं 50 साल की उम्र में स्वेच्छा से अखिल भारतीय सेवा नियम 1958 के तहत 1 अगस्त, 2021 से सेवानिवृत्ति के लिए आवेदन प्रस्तुत करती हूं।"

जीवन का अंतिम लक्ष्य प्राप्त करना चाहती हैं भारती अरोड़ा

भारती ने कहा कि अब वह अपने जीवन के अंतिम लक्ष्य को प्राप्त करना चाहती हैं। वह गुरु नानक देव, चैतन्य महाप्रभु, कबीरदास, तुलसीदास, सूरदास और मीराबाई जैसे सूफी और पवित्र संतों के दिखाए गए मार्ग पर चलकर अपना बाकी जीवन भगवान श्रीकृष्ण की भक्ति में समर्पित करना चाहती हैं। भारती ने कहा कि उन्होंने हमेशा अपनी सेवा को अपने गौरव और जुनून के रूप में लिया, लेकिन अब वॉलेंटरी रिटायरमेंट चाहती हैं।

कौन हैं भारती अरोड़ा

भारती अरोड़ा 1998 बैच की IPS अफसर हैं। उन्होंने 2007 समझौता एक्सप्रेस ट्रेन विस्फोट मामले के दौरान पुलिस अधीक्षक (रेलवे) के रूप में अपना काम संभाला था। उन्होंने अंबाला के पुलिस अधीक्षक के रूप में साल 2009 में तत्कालीन भाजपा विधायक अनिल विज को गिरफ्तार किया था। यहीं से वो सुर्खियों में आई थीं। अनिल विज फिलहाल राज्य सरकार में मंत्री हैं। इसके बाद 2015 में भारती का उनके वरिष्ठ सहयोगी नवदीप सिंह विर्क के साथ विवाद हो गया था। इस मामले के चलते भी वो काफी समय तक चर्चा में रहीं थी। भारती ने विर्क पर बलात्कार के एक मामले की जांच में बाधा डालने और उन्हें धमकाने का आरोप लगाया था।

Posted By: Arvind Dubey