बेंगलुरु। भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी इसरो ने चंद्रयान-2 मिशन में लैंडर विक्रम से संपर्क टूटने के बाद भी साथ देने के लिए देशवासियों के प्रति आभार जताया है।

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने मंगलवार को ट्वीट करके कहा, "हमारा साथ देने के लिए धन्यवाद। दुनिया भर में भारतीयों की उम्मीदों और सपनों के बल पर हम आगे बढ़ना जारी रखेंगे। हमें हमेशा आसमान छूने के लिए प्रेरित करने के लिए धन्यवाद।"

उल्लेखनीय है कि विगत सात सितंबर को चांद पर लैंडिंग के महज 2.1 किलोमीटर पहले लैंडर विक्रम से इसरो का संपर्क टूट गया था। बताया जा रहा है कि इसका कारण उसका तेज गति से चांद की सतह पर तिरछा गिरना है।

उल्लेखनीय है कि लैंडर विक्रम की चांद पर लैंडिंग देखने के लिए बेंगलुरु पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसरो के वैज्ञानिकों की हताशा दूर करने के लिए कहा था कि वह निराश न हों। देश उन पर गर्व करता है।

उन्होंने कहा था, "मैं आपके चेहरों पर निराशा के भाव देख रहा हूं। निराश होने की जरूरत नहीं है। इससे हमने बहुत कुछ सीखा है।" प्रधानमंत्री के इस बयान के बाद पूरे देश ने एक स्वर में इसरो के पक्ष में बयान दिया था।

Posted By: Ajay Barve