नई दिल्ली। सीबीडीटी ने दावा किया है कि आयकर विभाग ने बड़ी कार्रवाई करते हुए 3,300 करोड़ रुपए के हवाला रैकेट का पर्दाफाश किया है। दावा यह भी है कि इस रैकेट के तार देश के कईं राज्यों से जुड़े हुए हैं। इसके अनुसार यह रैकेट दिल्ली, मुंबई और हैदराबाद जैसे कई शहरों में फैला हुआ था और बुनियादी ढांचा क्षेत्र में प्रमुख कारपोरेट हाउसों से जुड़ा था। आयकर विभाग के लिए नीति निर्माण करने वाले बोर्ड ने किन उद्यमों पर छापे मारे गए उसकी पहचान नहीं बताई है।

जानकारी के अनुसार, बड़े पैमाने पर कर चोरी की सांठ-गांठ का पर्दाफाश करने के लिए इस महीने के पहले सप्ताह में दिल्ली, मुंबई, हैदराबाद, इरोड, पुणे, आगरा और गोवा में 42 स्थानों पर छापेमारी की गई। लोगों का एक समूह फर्जी बिल जारी करने और हवाला कारोबार में संलिप्त था।

इस पर्दाफाश को लेकर सीबीडीटी ने एक बयान में कहा है, "बड़े कॉर्पोरेट के बीच सांठगांठ, हवाला ऑपरेटरों और कामकाज की पूरी श्रृंखला की पहचान करने के लिए तलाशी सफल रही। इस दौरान पर्याप्त सुबूत उजागर हुए हैं। इसके साथ ही फर्जी ठेके के माध्यम से 3,300 करोड़ रुपए के कोष की हेराफेरी का पता चला है।"

बयान में यह भी कहा गया है कि छापेमारी से बुनियादी ढांचा क्षेत्र में प्रमुख कारपोरेट हाउसों द्वारा फर्जी ठेके और बिल के माध्यम से कमाई करने वाले एक बड़े रैकेट को सामने लाया गया है। तलाशी के दौरान करीब 4.19 करोड़ रुपए नकदी और 3.2 करोड़ रुपए के आभूषण जब्त किए गए हैं। कोष की हेराफेरी करने में संलिप्त कंपनियों में ज्यादातर राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र और मुंबई में स्थित हैं। इसी वर्ष अप्रैल में ऐसी ही एक कंपनी की तलाशी ली गई थी।

Posted By: Ajay Barve

fantasy cricket
fantasy cricket