आर्टिकल 370 हटाए जाने के बाद पूरी दुनिया की नजर कश्मीर और इससे जुड़ी घटनाओं पर है। मोदी सरकार के इस बड़े फैसले के बाद कश्मीर में शांति बनी हुई है। सालों बाद ऐसा हुआ कि ईद की नमाज के बाद हिंसा नहीं भड़की। इस बीच, स्वतंत्रता दिवस को लेकर यहां हलचल बढ़ गई है। जगह-जगह रिहर्सल हो रही है। पढ़िए जम्मू-कश्मीर के घटनाक्रम से जुड़ी Live Updates -

पूर्व आईएएस अफसर शाह फैसल को विदेश जाते वक्त दिल्ली एयरपोर्ट पर रोक लिया गया। उन्हें वापस श्रीनगर भेजा गया, जहां उन्हें लोक सुरक्षा कानून के तहत हिरासत में ले लिया गया। अधिकारियों ने बताया कि वह बुधवार सुबह इस्तांबुल जाने के लिए दिल्ली एयरपोर्ट पहुंचे थे।

जम्मू मूल के पूर्व नौकरशाह फैसल ने भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) से इस्तीफा देकर राजनीतिक दल जेएंडके पीपुल्स मूवमेंट पार्टी का गठन किया है। उन्हें पहले दिल्ली एयरपोर्ट पर हिरासत में लिया गया। उसके बाद श्रीनगर पहुंचने पर वहां पीएसए के तहत गिरफ्तार कर लिया गया। जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद उन्होंने कहा था कि राज्य अभूतपूर्व बंद का सामना कर रहा है और उसके 80 लाख लोगों को कैद कर लिया गया, ऐसा पहले कभी नहीं हुआ।

भड़काऊ बयान दे रहे थे फैसल

दरअसल, शाह फैसल जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 को निष्प्रभावी बनाने और राज्य को दो भागों, जम्मू-कश्मीर और लद्दाख, में बांटकर उन्हें केंद्रशासित प्रदेश घोषित किए जाने के फैसले के बाद से ही आग उगल रहे हैं। उन्होंने व्यक्तिगत बयान देने के साथ-साथ मीडिया में भी बेहद भड़काऊ बयान दे रहे थे। ऐसे में सरकार को उनकी गतिविधियों पर नजर रखने और उनकी आवाजाही सीमित रखने की जरूरत महसूस हुई।