श्रीनगर। कश्मीर घाटी में जहां वर्दीधारी सैनिक बाढ़ प्रभावित लोगों को लगातार मदद पहुंचाने का प्रयास कर रहे हैं, वहीं पत्थरबाजों द्वारा उनके विमानों और नौकाओं को निशाना बनाया जा रहा है।

पत्थरबाजों द्वारा निशाना बनाए जाने से बाढ़ प्रभावित श्रीनगर और इसके आसपास राहत एवं बचाव कार्य में लगे वायु सेना ने 80 विमानों में से कुछ को मामूली नुकसान भी पहुंचा है। लेकिन सुरक्षाकर्मियों का कहना है कि सभी लोगों तक मदद पहुंचने तक वे काम में लगे रहेंगे।

वायु सेना के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, "कम ऊंचाई पर उड़ रहे हेलीकॉप्टरों को पत्थरों से निशाना बनाया गया। एक हेलीकॉप्टर को कई पत्थर लगे जिससे उसे मामूली नुकसान पहुंचा।" उनके मुताबिक हेलीकॉप्टर सुरक्षित वापस लौट आया।

वहीं सेना का भी कहना है कि राहत एवं बचाव कार्य में लगी उसकी कुछ नौकाओं को पत्थरबाजों द्वारा निशाना बनाया गया है। एयर मार्शल एसबी देव ने कहा, "बाढ़ पीड़ितों को बचाने के काम में लगे लोगों पर हमला दुर्भाग्यपूर्ण है। इसके बावजूद सभी लोगों तक मदद पहुंचने तक हम अपना काम नहीं छोड़ेंगे।"

ऐसी रिपोर्टें मिल रही हैं कि कुछ जगहों पर अलगाववादियों द्वारा लोगों को सेना और वायु सेना की ओर से चलाए जा रहे राहत एवं बचाव कार्यों में बाधा डालने के लिए उकसाया जा रहा है। देव ने कहा कि उन्हें बाढ़ में सब कुछ खो देने वाले लोगों के प्रति सहानुभूति है। वह इस बात को भी समझ सकते हैं कि लोगों के बीच गुस्सा है।

उन्होंने कहा कि वे अपनी ड्यूटी कर रहे हैं, जिसके लिए 80 से अधिक विमानों को तैनात किया गया है। प्रत्येक तीन मिनट में एक विमान अपनी यात्रा पर निकल जाता है। जम्मू-कश्मीर के मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने भी सेना और वायुसेना कर्मियों को निशाना बनाए जाने की निंदा की है। उन्होंने विघटनकारी तत्वों से राहत एवं बचाव कार्य होते रहने देने की अपील की है।

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना