Jammu Kashmir: जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने केंद्र सरकार पर तीखा हमला किया है। उन्होंने भाजपा पर संविधान को नष्ट करने का आरोप लगाया है। कहा कि कश्मीर अपने संविधान के माध्यम से देश से जुड़ा है, लेकिन भाजपा ने संविधान को नष्ट कर दिया है। गौरतलब है कि महबूबा का यह बयान तब आया है जब 24 घंटे के अंदर उन्हें सरकारी घर खाली करने का नोटिस दिया गया। बता दें अनंतनाग में उन्हें सरकारी आवास मिला था, जहां वह कई सालों से रह रही थीं।

महबूबा मुफ्ती ने कहा, 'देश बीजेपी का नहीं है। जब तक आप कश्मीर मुद्दे का समाधान नहीं करते हैं, तब तक आप कोई रिजल्ट नहीं देखेंगे, चाहें आप कितने भी सैनिक यहां भेज दें।' पीडीपी प्रमुख ने पार्टी के युवा सम्मेलन को संबोधित करते हुए यह टिप्पणी की।

महबूबा मुफ्ती ने कहा, 'मैं बीजेपी को बताना चाहती हूं कि जब हमलावर पाकिस्तान से आए थे, तब तक भारतीय सेना नहीं आई थी। लोगों के हाथों में बंदूकें नहीं थीं, लेकिन फिर भी उन्होंने हमलावरों को खदेड़ दिया।' मुफ्ती ने कहा कि कश्मीरी जानते हैं कि उन्हें कैसे खदेड़ना है।

संविधान को नष्ट कर दिया

उन्होंने कहा कि हमने आपसे संविधान का संबंध स्थापित किया, जिसे आपने नष्ट कर दिया। आपने हमारी इज्जत से खेला है। पंचायत चुनव इतने अच्छे हैं तो आप शीर्ष पदों पर क्या कर रहे हैं। पंचायत चुनाव लड़ें। बता दें अगस्त 2019 में संविधान से अनुच्छेद 370 और 35A के विशेष दर्जा समाप्त किए जाने के करीब एक साल बाद 2020 में पंचायत चुनाव हुए थे।

बहुसंख्यक मुसलमानों ने कश्मीरियों को बचाया था

महबूबा मुफ्ती ने महात्मा गांधी और जवाहरलाल नेहरू के भारत का जिक्र करते हुए कहा कि वह उस देश की बात करती हैं, जिसे नेहरू के पड़पोते राहुल गांधी खोज रहे हैं। उन्होंने कहा कि जब हिंदू और मुसलमान धर्म के नाम पर लड़ रहे थे, तो कश्मीर ही एकमात्र ऐसी जगह थी। जहां बहुसंख्यक मुसलमानों ने कश्मीरियों को बचाया था। मैं उस भारत की बात करती हूं जिसे नेहरू और गांधी ने एक साथ बनाया था।

Posted By: Kushagra Valuskar

  • Font Size
  • Close