Valmiki Nagar (Bihar) वाल्मीकि नगर (बिहार) से जदयू JD(U) के सांसद बैद्यनाथ प्रसाद महतो Baidyanath Prasad Mahto का आज दिल्ली के एम्स में निधन हो गया। उन्होंने एम्स दिल्ली में अंतिम सांस ली। सांस लेने में परेशानी के चलते उन्हें 11 फरवरी को भर्ती कराया गया था। अपने पीछे वे भरा-पूरा परिवार छोड़ गए हैं। उनके निधन पर शोक जताते हुए सीएम नीतीश कुमार ने घोषणा की है कि उन्हें राजकीय अंतिम संस्कार दिया जाएगा। वाल्मीकिनगर के सांसद व बिहार के पूर्व ग्रामीण विकास मंत्री बैद्यनाथ प्रसाद महतो का शुक्रवार की शाम करीब छह बजे निधन हो गया।

मूलरूप से नौतन प्रखंड के पकडिय़ार के रहने वाले बैद्यनाथ सांसद बनने से पहले दो बार नौतन विधानसभा से विधायक रह चुके थे। वर्ष 2000 में वे पहली बार विधायक बने। फिर वर्ष 2005 में विधायक चुने गए और 2008 तक बिहार सरकार में ग्रामीण विकास मंत्री रहे। उसके बाद 2009 में वाल्मीकिनगर लोकसभा सीट पर जदयू की ओर से चुनाव लड़े और निर्दलीय प्रत्याशी फखरुद्दीन को हराया। उस समय लोकसभा में जदयू के मुख्य सचेतक भी रहे। 2014 के चुनाव में उनको हार मिली। दूसरी बार 2019 में जदयू ने वाल्मीकिनगर से उन्हें फिर लोकसभा का उम्मीदवार बनाया। चुनाव जीते। वर्तमान में वे संसद में जदयू के उपनेता थे। वे पार्टी के जिलाध्यक्ष भी रहे।

दियारा में दस्यु सरगनाओं के खिलाफ जमकर लिया था लोहा

जिला जदयू के अध्यक्ष शत्रुघ्न प्रसाद कुशवाहा ने बताया कि तीन भाइयों में सबसे बड़े सांसद के निधन की खबर जैसे ही बेतिया पहुंची शोक की लहर दौड़ गई। उनके मंझले भाई की मौत करीब दो वर्ष पहले हो चुकी है। सांसद को तीन पुत्र और एक पुत्री हैं। करीब तीन दशक पहले जिले के दियारा में दस्यु सरगनाओं के दौर में बैद्यनाथ महतो ने उनके खिलाफ जमकर लोहा लिया था। ग्राम रक्षा दल का गठन करने के साथ लोगों को डकैतों के खिलाफ एकजुट करने का काम किया था। उस दौरान जुझारू नेता के रूप में उभरे थे। इसके बाद उन्होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा। राजनीतिक क्षेत्र में अपनी पहचान बनाई।

उनके निधन पर भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. संजय जायसवाल, प्रदेश जदयू उपाध्यक्ष डॉ. एनएन शाही, अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री खुर्शीद उर्फ फिरोज आलम, जदयू जिलाध्यक्ष शत्रुघ्न प्रसाद कुशवाहा, प्रदेश संगठन सचिव नंद किशोर चौधरी सहित अन्य ने शोक जताया है।

Posted By: Navodit Saktawat