नई दिल्ली। जेट एयरवेज की मुंबई-जयपुर फ्लाइट में सवार एक यात्री ने एयरलाइन से 30 लाख रुपए का मुआवजा और 100 अपग्रेड वाउचर की मांग की है। एयरलाइन के सूत्रों ने गुरुवार को यह जानकारी दी। इस यात्री ने एयरलाइन पर देखभाल में कमी का आरोप लगाया है। इस यात्री को चार अन्य यात्रियों के साथ इलाज के लिए अस्पताल भेजा गया था।

सूत्रों ने बताया कि इसके अलावा यात्री ने उड़ान का वीडियो भी शेयर करने की धमकी दी है। कानून के तहत अगर कोई यात्री किसी एयरलाइन से यात्रा के समय घायल होता है तो एयरलाइन को उसे मुआवजा देना होता है।

बता दें कि गुरुवार को जेट एयरवेज की मुंबई-जयपुर फ्लाइट में गुरुवार को उस वक्त कोहराम मच गया, जब विमान में सवार 166 में से 30 यात्रियों की नाक-कान से खून बहने लगा। यह घटना चालक दल द्वारा "कैबिन प्रेशर बटन" चालू नहीं करने से हुई। इस बटन से विमान में हवा का स्तर बरकरार रहता है। ताबड़तोड़ यात्रियों को ऑक्सीजन मॉस्क लगाए गए और विमान बीच रास्ते से पुनः मुंबई लाया गया।

डीजीसीए ने वायुयान दुर्घटना जांच ब्यूरो (एएआईबी) को जांच सौंप दी है। नागरिक विमानन मंत्री सुरेश प्रभु ने सभी एयरलाइन व एयरपोर्ट के सेफ्टी ऑडिट का निर्देश दिया है। पायलटों को उड़ान से रोकाजेट एयरवेज के प्रवक्ता ने बताया कि फ्लाइट संख्या 9डब्ल्यू 697 में 166 यात्री और चालक दल के पांच सदस्य सवार थे। इनमें से 30 यात्री प्रभावित हुए।

कुछ यात्रियों की नाक व कुछ के कान से खून निकलने लगा। कुछ को सिरदर्द शुरू हो गया। यात्रियों को हुई परेशानी के लिए खेद जताते हुए जेट प्रवक्ता ने कहा कि बोइंग 737 को करीब 23 मिनट बाद वापस मुंबई लाया गया। उसके पायलटों को जांच पूरी होने तक उड़ान से प्रतिबंधित कर दिया गया है।