रांची। झारखंड सरकार ने जिंदल स्टील एंड पॉवर (जेएसपीएल) को तगड़ा झटका दिया है। राज्य सरकार के जल संसाधन विभाग ने कंपनी की औद्योगिक जल की मांग को सिरे से खारिज करते हुए दो टूक जवाब दे दिया है।

जेएसपीएल ने सुवर्णरेखा नदी के चांडिल डैम से प्रतिवर्ष 28.65 एमसीएम पानी मांगा था, जिसकी अनुपलब्धता का हवाला देते हुए खारिज कर दिया गया है। पूर्व की सरकार ने मई-2013 में जेएसपीएल को पानी देने के लिए सहमति जताई थी। बता दें कि औद्योगिक जल का बंटवारा सरकार के लिए बड़ी समस्या बनी हुई है। इससे डिमांड और सप्लाई का संतुलन गड़बड़ा रहा है।

सरकारी आंकड़े बताते हैं कि उद्योगों को 4338 मिलियन घन मीटर पानी की आवश्यकता है, जबकि उसे मिल महज 3779 मिलियन घन मीटर रहा है। राज्य की प्रमुख नदी बेसिन सुवर्णरेखा, दामोदर, खरकई, बराकर और अजय में उद्योगों के लिए आवंटित जल से कहीं अधिक के आवेदन दिए गए हैं।

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020