Kanpur News Live: चौबेपुर के बिकरू गांव में मुठभेड़ में सीओ समेत आठ पुलिस जवानों के शहीद होने की घटना के दूसरे दिन एनकाउंटर में मारे गए विकास के मामा प्रेम कुमार पांडेय की पत्नी और बहू ने पुलिस और मीडिया के सामने कई राज खोलते हुए कहा कि विकास ने हमारी गृहस्थी तबाह कर दी। वह बेगुनाह थे, उनका कसूर सिर्फ इतना था कि भाई विकास के डर से वह उनके साथ में जाते थे। साथ ही दोनों सास-बहू ने पुलिस को भी कठघरे में खड़ा किया है और आरोप लगाया कि पोस्टमार्टम के बाद जानकारी दिए बिना अंतिम संस्कार करके आखिरी बार उनको चेहरा भी नहीं देखने दिया। बहू वर्षा ने कहा कि उनके परिवार के लिए विकास दुबे किसी अभिशाप से कम नहीं है।

वहीं हिस्ट्रीशीटर Vikas Dubey अभी भी पुलिस की पकड़ से बाहर है। विकास दुबे को मोस्ट वांटेड अपराधियों की सूची में शामिल करते हुए उस पर घोषित इनाम को 50 हजार से बढ़ाकर एक लाख कर दिया गया है। उसके 21 साथियों में से एक दयाशंकर अग्निहोत्री को शनिवार देर रात मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार किया गया है। इस बीच कानपुर के विजय नगर क्षेत्र में तीन लावारिस कार मिलने के बाद पुलिस जांच में जुट गई है।

इससे पहले रविवार सुबह औरेया में लखनऊ के नंबर की लावारिस कार मिली थी, जो अतुल दुबे नामक व्यक्ति की बताई जा रही है। पुलिस यह कनेक्शन तलाश रही है कि इस कार का उपयोग विकास दुबे के भागने के लिए तो नहीं किया गया था।

दयाशंकर उर्फ कल्लू भी गुरुवार रात को हुई वारदात के बाद से फरार था। वह कल्याणपुर के आसपास सक्रिय रहता था और विवादित जमीनों के मामले में विकास दुबे का साथ देता था। कल्याणपुर थाने में उसके खिलाफ तीन केस भी दर्ज है, जिनमें से दो मामले हत्या के प्रयास और एक आर्म्स एक्ट का है।

शनिवार रात को पुलिस को कल्लू की लोकेशन जवाहरपुरम पुलिया के पास मिली, जिसके बाद पुलिस ने उसकी घेराबंदी की। कल्लू ने भागने का प्रयास किया, दोनों तरफ से हुई फायरिंग के बाद कल्लू के बाएं पैर में गोली लगी और उसे गिरफ्तार कर लिया गया और उससे पूछताछ जारी है।

विकास को दबिश की पहले से ही थी सूचना:

कल्लू ने बताया कि विकास दुबे को दबिश की सूचना पहले से ही थी और इसी वजह से उसने बाहर से हथियारबंद शूटर्स भी बुलवाए थे। विकास ने उसकी लाइसेंसी बंदूक छीनकर उससे फायरिंग भी की थी। बताया जाता है कि कल्लू, विकास के घर रहने वाली नौकरानी रेखा का पति है।

विकास के साथियों पर 25 हजार का इनाम:

एडीजी जय नारायण सिंह ने बताया कि विकास दुबे पर इनाम की राशि 50 हजार से बढ़ाकर 1 लाख कर दी गई है। विकास दुबे के अलावा उसके 10 साथियों को नामजदऔर 60-70 अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या सहित विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया गया है। विकास के दो साथी मारे जा चुके है। उसके 18 अन्य साथियों पर 25-25 हजार का इनाम घोषित किया गया है।

Posted By: Kiran K Waikar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Raksha Bandhan 2020
Raksha Bandhan 2020