बेंगलुरु। कर्नाटक में कांग्रेस-JDS गठबंधन वाली कुमारस्वामी सरकार के गिरने के बाद सभी की नजरें भाजपाई खेमे पर टिक गई है। सवाल यही है कि क्या भाजपा विधायक दल के नेता बीएस येदियुरप्पा सरकार बनाने का दावा पेश करेंगे? बुधवार दिनभर इसकी अटकलें लगती रहती रहीं। भाजपा ने सरकार बनाने का दावा पेश नहीं किया।

इस बीच, प्रदेश के चीफ मिनिस्टर इन वेटिंग माने जा रहे येदियुरप्पा ने राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (RSS) के नेताओं से मुलाकात की और कहा, 'मैं दिल्ली से निर्देशों का इंतजार कर रहा हूं। मैं किसी भी वक्त पार्टी विधायक दल की बैठक बुला सकता हूं और सरकार बनाने का दावा पेश करने राजभवन जा सकता हूं। मैं इसका इंतजार कर रहा हूं।'

बताते हैं कि दिल्ली में इस संबंध में भाजपा संसदीय बोर्ड की बुधवार को कोई बैठक नहीं हुई। भाजपा के एक वरिष्ठ नेता ने बताया, 'पार्टी नेतृत्व ने अभी तक कोई संकेत नहीं दिया है। सिर्फ मीडिया में ही कयास लगाए जा रहे हैं। पार्टी नेतृत्व संभवतः बागी विधायकों के इस्तीफों पर स्पीकर के फैसले का इंतजार कर रहा है ताकि भविष्य में किसी भी तरह की शर्मिंदगी का सामना न करना पड़े।'

वहीं, स्पीकर रमेश कुमार ने बताया कि अयोग्यता याचिका पर कार्यवाही जारी है। उन्होंने कहा, 'वकील आए थे और अपने मुवक्किलों (विधायकों) की ओर से उन्हें जो कहना था, उन्होंने कहा। मैंने उनकी बात सुनी। मैं सब देखूंगा और कानून के मुताबिक फैसला करूंगा।' जब उनसे पूछा गया कि क्या उन्होंने विधायकों को पेश होने के लिए और समय दिया है? उन्होंने कहा, 'सब कुछ हो चुका है। वे भी संतुष्ट हैं और मैं भी संतुष्ट हूं। आगे अब सिर्फ कार्रवाई होगी।'

Posted By: Arvind Dubey

Assembly elections 2021
elections 2022
  • Font Size
  • Close