वाराणसी से उज्जैन के बीच शुरू हुई काशी-महाकाल एक्सप्रेस में भगवान शिव के लिए एक सीट रिजर्व करने के रेलवे के निर्णय पर सियासत शुरू हो गई है। ट्रेन में सीट पर शिव मंदिर बनाए जाने को लेकर AIMIM लीडर असदुद्दीन औवेसी ने PMO के नाम पर ट्वीट करते हुए सवाल उठाए हैं। ओवैसी ने PMO के नाम ट्वीट करते हुए देश के संविधान की कॉपी को भी टैग किया। ओवैसी का ट्वीट काशी महाकाल एक्सप्रेस को पीएम नरेंद्र मोदी द्वारा रविवार को हरी झंडी दिखाए जाने के बाद सोमवार को सामने आया है। बता दें कि ट्रेन के कोच B5 में सीट नंबर 64 पर रेलवे अथॉरिटी द्वारा छोटा शिव मंदिर बनाया गया था। इस सीट को भगवान शिव के लिए आरक्षित रखने की जानकारी भी दी गई थी।

नॉर्थन रेलवे के प्रवक्ता दीपक कुमार ने कहा 'यह पहली बार है जब भगवान शिव के लिए ट्रेन में सीट रिजर्व रखी गई है। यहां तक की सीट पर मंदिर भी बनाया गया है जिससे लोगों को इस बात की जानकारी रहे कि यह सीट भगवान महाकाल के लिए रिजर्व है।'

रेलवे अथॉरिटी ने कही यह बात

रेलवे अथॉरिटी ने रविवार को PTI को बताया था कि 'भोले बाबा' के लिए एक सीट रिजर्व रहेगी जो ट्रेन का परमानेंट फीचर होगा। यह ट्रेन तीन ज्योतिर्लिंगों इंदौर के नजदीक ओमकारेश्वर, उज्जैन में महाकालेश्वर और वाराणसी के काशी विश्वनाथ मंदिर को जोड़ेगी।

यह रहेगा ट्रेन का शेड्यूल

- ट्रेन 82401 मंगलवार और गुरुवार को दोपहर 2:45 बजे वाराणसी से चलकर शाम 7:05 बजे लखनऊ पहुंचेगी। यहां से कानपुर, बीना, भोपाल और उज्जैन से होते हुए अगले दिन सुबह 9:40 बजे इंदौर पहुंचेगी।

- ट्रेन 82402 इंदौर से बुधवार और शुक्रवार सुबह 10:55 बजे चलकर रात 11:40 बजे कानपुर, 1:20 बजे लखनऊ होते हुए सुबह 6 बजे वाराणसी पहुंचेगी।

Posted By: Neeraj Vyas