Kerala Rains Dramatic Videos: : केरल में बारिश ने भारी तबाही मचाई है। अब तक 18 लोगों के मारे जाने और दर्जनों के घायल होने की सूचना है। भूस्खलन के कारण भी मौतें हुई हैं। एक दर्जन लोग लापता हो गए हैं।पलक्कड़ के चुलियार और त्रिशूर जिले के पीची के लिए रेड अलर्ट जारी किया गया है। मुख्यमंत्री कार्यालय द्वारा जारी आधिकारिक विज्ञप्ति के अनुसार, पठानमथिट्टा, त्रिशूर और मलप्पुरम जिलों में एनडीआरएफ की एक-एक टीम पहले ही तैनात की जा चुकी है। केरल सरकार की मांग पर बाढ़ से पैदा हुए हालात से निपटने के लिए सुरक्षा बल प्रभावित इलाकों में पहुंच गए हैं। मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने मौजूदा स्थिति को गंभीर बताया है। मौसम विभाग की ताजा रिपोर्ट के आधार पर यह भी संभावना जताई गई है कि अभी स्थिति और नहीं बिगड़ेगी। नीचे देखिए फोटो वीडियो

अत्यधिक बारिश से बने हालात में कई लोगों के घायल होने की खबर है। निचले इलाकों में रहने वाले सैकड़ों लोगों को अपना घर छोड़कर सुरक्षित स्थानों पर जाना पड़ा। राज्य के दक्षिणी हिस्से में कई जिलों में बने बांध पूरी तरह भरने के करीब हैं। निर्धारित क्षमता से अधिक पानी होने पर इनके दरवाजे खोलने पड़ सकते हैं। इससे स्थिति और खराब होने की संभावना है। राज्य सरकार ने एक बड़े इलाके में बाढ़ की आशंका को भांपते हुए सुरक्षा बलों की मदद मांगी है। राज्य में कई ऐसे पहाड़ी इलाके हैं जहां बाढ़ की स्थिति में उनका जमीनी संपर्क बाकी दुनिया से कट जाएगा।

कोट्टायम, इडुक्की और पथानामथिट्टा जिले सबसे खराब हैं। इडुक्की में अधिकतम 24 सेंटीमीटर बारिश हुई है। इन सबसे बुरी तरह प्रभावित जिलों की स्थिति लगभग वैसी ही है जैसी 2018 की बाढ़ के दौरान थी।

पिछले अनुभवों के आधार पर प्रशासन ने बचाव के इंतजाम किए हैं और फिलहाल स्थिति नियंत्रण में है. प्रशासन के दावों के उलट कई इलाकों में बचाव दल और राहत सामग्री नहीं मिलने की खबरें आ रही हैं. अधिकारियों के मुताबिक, सेना, वायुसेना और नौसेना के बचाव दल कोट्टायम और इडुक्की ग्रामीण इलाकों के लिए रवाना हो गए हैं। जल्द ही प्रभावित लोगों को राहत मिलेगी। राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) की 11 टीमों को भी प्रभावित इलाकों में भेजा गया है।

Image

Image

Image

Image

Posted By: Arvind Dubey