PM Kisan Samman Nidhi Yojana: केंद्र सरकार ने प्रधानमंत्री किसान निधि योजना के तहत 8वीं किस्त का पैसा जारी कर दिया है। कृषकों के खातों में योजना के तहत 2000 रुपए आने लगे हैं। गौरतलब है कि किसानों को आर्थिक सहायता देने के लिए सरकार ने पीएम किसान सम्मान निधि योजना की शुरुआत की है। इसके तहत कृषकों को हर साल 6 हजार रुपए तीन किस्तों में मिलते हैं। हालांकि इस बार कई किसानों को इस योजना का लाभ शायद नहीं मिले। दरअसल पीएम किसान निधि योजना का लाभ कई अपात्र लोग भी उठा रहे हैं। जिसके बाद सरकार ने कुछ नियमों और शर्तों को लागू कर दिया है। इन शर्तों को पूरा करने वाले किसान ही योजना पाने के हकदान होंगे। इसमें सबसे जरूरी शर्त यह है कि लाभ उन्हीं किसानों को मिलेगा जिनके नाम पर खेत हैं। पहले पुश्तैनी जमीन पर भी स्कीम का फायदा किसानों को मिलता था। वहीं अगर खेत पिता या दादा के नाम पर है, तब भी किसान योजना का पात्र नहीं होगा।

अपात्र व्यक्तियों को मिल रहा फायदा

पीएम किसान सम्मान निधि योजना की सरकार ने जांच की तो सामने आया कि अपात्र व्यक्तियों को इसका लाभ मिल रहा है। ऐसे में सरकार ने शर्तों में बदलाव किए हैं। वहीं लोगो से वसूली भी शुरू कर दी है। किसानों के अकाउंट में 8वीं किस्त आना शुरू हो गई है। हालांकि कुछ टेक्निकल खराबी के कारण 4 लाख किसानों को 7वीं किस्त भी नहीं मिली है। इनमें सबसे ज्यादा उत्तप्रदेश के किसान शामिल है। किसानों का भुगतान रुकने में दूसरे स्थान पर राजस्थान और तीसरे नंबर पर महाराष्ट्र है।

क्यों रुक गया पैसा

दस्तावेजों में कोई गलती रहने के कारण पैसा आने में देरी होती है। सबसे ज्यादा गलतियां आधार नंबर और बैंक अकाउंट नंबर गलत भरने के कारण पेमेंट अटक जाता है ऐसे में शख्य को कॉमस सर्विस सेंटर जाकर गलतियां सुधार सकते हैं। वहीं घर बैठे गलती सुधारने के लिए https://pmkisan.gov.in पर जाना होगा। यहां हेल्प डेस्क पर जाकर गलतियों को सुधारा जा सकता है।

Posted By: Arvind Dubey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags