कोलकाता। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मंगलवार को एक बार फिर से मूर्ति पॉलिटिक्स को हवा दे दी है। ममता ने चुनाव के दौरान हुई हिंसा में विद्यासागर में तोड़ी गई ईश्वरचंद विद्यासागर की मूर्ति की प्रतिकृति बनवाई है और उसे उसी जगह स्थापित किया गया है जहां पुरानी मूर्ति थी।

इससे पहले ममत ने इस मूर्ति पर फूल चढ़ाए और उसके बाद वो मूर्ति को लेकर पैदल मार्च करते हुए विश्वविद्यालय तक गईं जहां उन्होंने इस मूर्ति को स्थापित किया। यह पदयात्रा कोलकाता के कॉलेज स्ट्रीट स्थित हारे स्कूल ग्राउंड से शुरू हुई जहां उन्होंने मूर्ति पर फूल चढ़ाए।

बता दें कि चुनाव में मूर्ति तोड़े जाने के बाद इस पर जमकर बवाल हुआ था और प्रधानमंत्री मोदी ने भी कहा था कि जिस जगह पुरानी मूर्ति थी वहीं उनकी सरकार पंचधातु की मूर्ति लगवाएगी। ममता ने इस पैदल मार्च के दौरान एक बार फिर से भाजपा पर निशाना साधा है।

ममता ने कहा है कि बंगाल की संस्कृति को खत्म करने का काम किया जा रहा है और इसे गुजरात बनाने की कोशिश हो रही है लेकिन बंगाल गुजरात नहीं है।

Posted By: Arvind Dubey