कोटद्वार। बीते वर्ष सितंबर में हुए बवाल को लेकर जांच कर रही पुलिस की संजीदगी सवालों से घिर गई है। पुलिस ने मामले में एक सैन्य अधिकारी को भी आरोपी बना डाला और समन भी भेज दिया।

हैरत यह है कि इस सैन्य अधिकारी का वर्ष 2006 में निधन हो चुका है। कोटद्वार की अपर पुलिस अधीक्षक सरिता डोभाल ने मामले में एसआइ विवेक भारद्वाज और एसआइ आनंद मेहरा को सस्‍पेंड कर दिया है।

पिछले वर्ष सितंबर में लकड़ीपड़ाव में दो पक्षों में हुई मारपीट को लेकर हुआ बवाल तोड़फोड़ में बदल गया। मामले को सांप्रदायिक रंग देने का भी प्रयास किया गया था। मामले में पुलिस ने विभिन्न धाराओं में अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू की और 10 मार्च 2016 को अदालत में आरोप पत्र भी दाखिल कर दिया। इसके बाद अदालत ने आरापियों को समन जारी करने शुरू किए।

इसी के तहत बीते रोज ग्रास्टनगंज निवासी नरेश चंद्र जोशी को भी समन मिला। समन में उनके पुत्र गौरव जोशी के नाम का उल्लेख था। गौरव के लिए 22 जुलाई को अदालत में पेश होने का आदेश था। नरेश चंद्र जोशी ने बताया कि गौरव 5/11 गढ़वाल राइफल्स में लेफ्टिनेंट थे। सड़क हादसे में गंभीर रूप से घायल होने के बाद एक मार्च 2006 को पुणे के कमांड हॉस्पिटल में उनका निधन हो गया था। जोशी ने कहा कि वह अदालत को पुलिस की लापरवाही से अवगत कराएंगे।

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना