LIVE AB-PMJAY SEHAT Yojana: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जम्मू कश्मीर के एक करोड़ निवासियों को सेहत का तोहफा दियाहै। पीएम ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए यहां आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना सेहत (AB-PMJAY SEHAT) की शुरुआत की। अब तक आयुष्मान भारत योजना जम्मू-कश्मीर में लागू नहीं थी। योजना के लागू होते ही पांच लाख रुपए तक का इलाज मुफ्त मिलेगा। अच्छी बात यह है कि जम्मू-कश्मीर के बाशिंदे देश में कहीं भी इलाज करवा सकेंगे। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए होने वाले कार्यक्रम में जम्मू कश्मीर के एलजी मनोज सिन्हा और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने हिस्सा लिया। इस योजना से जम्मू कश्मीर के करीब 1 करोड लोगों को लाभ होगा। इससे पहले जम्मू कश्मीर में लागू आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत करीब 31 लाख लोगों को लाभ मिल रहा था।

इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, आज का दिन जम्मू-कश्मीर के लोगों के लिए ऐतिहासिक दिन है। मुझे बहुत खुशी होती है जब सुनता हूं कि यह योजना गरीबों के बहुत काम आ रही है। जब किसी गरीब को ऐसी योजनाओं का लाभ मिलता है तो काम करने की मेरी ऊर्जा बढ़ जाती है।

पढ़िए पीएम मोदी के संबोधन की अहम बातें

मैं जम्मू-कश्मीर के लोगों को लोकतंत्र को मजबूत करने के लिए भी बधाई देता हूं, District Development Council के चुनाव ने एक नया अध्याय लिखा है, मैं चुनावों के हर Phase में देख रहा था कि कैसे इतनी सर्दी के बावजूद, कोरोना के बावजूद, नौजवान, बुजुर्ग, महिलाएं बूथ पर पहुंच रहे थे।

जम्मू कश्मीर के हर वोटर के चेहरे पर मुझे विकास के लिए, डेवलपमेंट के लिए एक उम्मीद नजर आई, उमंग नजर आई। जम्मू कश्मीर के हर वोटर की आंखों में मैंने अतीत को पीछे छोड़ते हुए, बेहतर भविष्य का विश्वास देखा।

जम्मू कश्मीर के हर वोटर के चेहरे पर मुझे विकास के लिए, डेवलपमेंट के लिए एक उम्मीद नजर आई, उमंग नजर आई। जम्मू कश्मीर के हर वोटर की आंखों में मैंने अतीत को पीछे छोड़ते हुए, बेहतर भविष्य का विश्वास देखा।

जानिए Pradhan Mantri Jan Arogya Yojana (PM-JAY) की बड़ी बातें

AB-PMJAY SEHAT योजना के लिए रजिस्ट्रेशन जारी है। अब तक करीब 15 लाख लोग रजिस्ट्रेशन करवा चुके हैं।योजना के लाभार्थियों को सस्ती और अच्छी स्वास्थ्य सेवा उपलब्ध करने का लक्ष्य है। जम्मू-कश्मीर के लिए इस योजना को SEHAT नाम दिया गया है, जिसका मतलब है सोशल एंडेवर फॉर हेल्थ एंड टेलीमेडिसिन। इसके तहत केवल जम्मू कश्मीर में इलाज करवाने की बाध्यता नहीं होगी। जम्मू-कश्मीर के लोग देशभर के 24,148 अस्पतालों में पोर्टेबिलिटी के तहत बीमा की सुविधा का लाभ उठा सकेंगे। यह योजना बीमा मोड पर पीएम-जय के साथ मिलकर संचालित होगी।

Image

Posted By: Arvind Dubey