Economic Package Part 3: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण शुक्रवार को लगातार तीसरे दिन प्रेस कॉन्फ्रेंस कर 20 लाख करोड़ रुपए आर्थिक पैकेज की जानकारी दी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्र के नाम संदेश में इस 'आत्मनिर्भर भारत' पैकेज की घोषणा की थी। वित्त मंत्री ने किसानों और कृषि उद्योग के लिए बड़ा ऐलान करते हुए बताया कि 2 महीने में कुल 18700 करोड़ रुपया किसानों को दिया गया। 74 हजार 300 करोड़ की फसल खरीदी की गई। सरकार तुरंत किसानों के लिए फार्म गेट के बुनियादी ढांचे के लिए 1 लाख करोड़ रुपये का एग्री-इन्फ्रास्ट्रक्चर फंड बनाने जा रही है। सरकार माइक्रो फूड एंटरप्राइजेज (MFEs) के लिए 10,000 करोड़ रुपये की योजना लेकर आई है।

किसानों की उपज को अच्छा मूल्य उपलब्ध कराने के लिए पर्याप्त विकल्प प्रदान करने को एक केंद्रीय कानून तैयार किया जाएगा, जिससे बाधा रहित अंतरराज्यीय व्यापार और कृषि उपज के ई-ट्रेडिंग के लिए रूपरेखा तैयार की जा सके।

अब तक किए गए कम: न्यूनतम समर्थन राशि के तहत 74,300 करोड़ रुपये किसानों की फसल की खरीद के लिए दिए गए हैं। PM-KISAN योजना के तहत किसानों को 18,700 करोड़ रुपये हस्तांतरित किए गए हैं। पीएम फासल बीमा योजना के तहत 6,400 करोड़ रुपए किसानों के खातों में भेजे गए हैं।

Nirmala Sitharaman Press Conference Part-3 की बड़ी बातें

वित्त मंत्री ने बताया कि पिछले छह साल से किसानों के कल्याण के लिए लगातार कदम उठाए जा रहे हैं। देश के करोड़ों किसानों को पीएम किसान सम्मान निधि के अंतर्गत 6,000 रुपये का लाभ मिल रहा है। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना से किसानों को बाढ़, सूखे के समय उनके नुकसान की भरपाई हो रही है।

लॉकडाउन अवधि के दौरान दूध की मांग 20-25% कम हो गई। 2020-21 में डेयरी सहकारी समितियों को 2% प्रति वर्ष दर से ब्याज उपदान प्रदान करने की नई योजना लाई गई है। इस योजना में 5000 करोड़ रुपये की अतिरिक्त नकदी से 2 करोड़ किसानों को लाभ होगा।

लॉकडाउन अवधि के दौरान न्यूनतम समर्थन मूल्य पर 74,300 करोड़ रुपये से अधिक की खरीद की गई; पीएम किसान निधि में 18700 करोड़ रुपये का हस्तांतरण किया गया।

किसानों के पास भंडारण की कमी और मूल्य संवर्धन के अवसरों की कमी को पूरा करने के लिए 1 लाख करोड़ रुपये का कृषि आधारभूत ढांचा तैयार किया जाएगा। जिससे कोल्ड चैन के साथ फसल कटाई के बाद की सुविधाएं विकसित की जाएंगी।

मछुआरों को नई नौकाएं दी जाएंगी, जिससे 55 लाख लोगों को रोजगार मिलेगा, इससे भारत का निर्यात दोगुना बढ़कर 1 लाख करोड़ रुपये का होगा, अगले 5 साल में 70 लाख टन अतिरिक्त मत्स्य उत्पादन होगा।

लॉकडाउन के दौरान भी किसान काम करते रहे, छोटे और मंझोले किसानों के पास 85 फीसदी खेती। सूखे और बढ़ा के बावजूद किसानों ने बहुत अच्छा काम किया है।

Nirmala Sitharaman Press Conference Part-1 की बड़ी बातें

  • सुक्ष्म, लघु तथा मध्यम उद्योग यानी MSME क्षेत्र में बिना गारंटी के लोन दिया जाएगा। इससे 2 लाख यूनिट्स को साभ मिलेगा।
  • MSME की परिभाषा बदल दी गई है। अब 1 करोड़ के निवेश और 5 करोड़ के टर्नओवर तक माइक्रो यूनिट ही रहेगा और MSME का दर्जा और फायदा मिलता रहेगा।
  • EPF के लिए दी गई सहायता अगले 3 मई के लिए बढ़ा दी गई। यानी 15,000 रुपए से कम वेतन वालों का EPF अब अगस्त तक सरकार भरेगी।
  • मौजूदा TDS व TCS दरों में 25 फीसदी की कटौती की गई है। यह कटौती गुरुवार से लागू हो गई। इससे 50,000 करोड़ रुपए लोगों की जेब में बचेंगे।
  • इनकम टैक्स रिटर्न की तारीख भी 30 नवंबर तक बढ़ा दी गई है।

Nirmala Sitharaman Press Conference Part-2 की बड़ी बातें

  • One Nation One Ration Card स्कीम यानी एक देश एक राशन कार्ड स्कीम लागू होगी।

  • किसानों को 86,600 करोड़ रुपए के कर्ज, 25 लाख नए किसान कार्ड
  • किसानों को 31 मई तक कर्ज के ब्याज पर छूट
  • अपने राज्यों को लौटे प्रवासियों को मनरेगा के तहत काम दिया जाएगा।
  • मजदूरों की दिहाड़ी 182 रुपए से बढ़ाकर 202 रुपए कर दी गई
  • मजदूरों के लिए रेंटल हाउसिंग प्रोजेक्ट का ऐलान।
  • छोटे कारोबारियों को मुद्रा योजना के तहत लिए 50 हजार के कर्ज पर ब्याज दो फीसदी की राहत दी जाएगी
  • मुद्रा शिशु ऋण योजना के तहत 50 हजार रुपए का लोन लेने वाले लोगों को ब्याज में सहायता।

Posted By: Arvind Dubey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस