Delhi Lockdown Extend: दिल्ली में कोरोना महामारी की स्थिति गंभीर हो गई है। इस बीच राष्ट्रीय राजधानी में अगले सोमवार तक सम्पूर्ण लॉकडाउन (Delhi Lockdown Extend:) का ऐलान कर दिया गया है। इस संबंध में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार सुबह उपराज्यपाल से मुलाकात की। आज रात 10 बजे से सोमवार सुबह 5 बजे तक लॉकडाउन रहेगा। इसके बाद केजरीवाल ने एक हफ्ते के कर्फ्यू का ऐलान किया। अभी दिल्ली में वीकेंड कर्फ्यू लगा है, लेकिन उसका फायदा होता नहीं दिख रहा है। वहीं दिल्ली के व्यापारी संगठनों ने भी लॉकडाउन की मांग की थी। इसके चलते सोमवार को ही कई व्यापारियों ने दुकानें बंद रखीं। सड़कों पर सुबह से ट्रैफिक कम रहा। हालांकि लॉकडाउन का ऐलान होते ही राजधानी की शराब दुकानों पर भीड़ टूट पड़ी। ये लोग मास्क लगाने या शारीरिक दूरी का पालन करना भी भूल गए। दूध व किराने समेत अन्य जरूरी चीजों के बजाए शराब दुकानों पर सबसे ज्यादा भीड़ रही।

प्रवासी मजदूरों से अपील, दिल्ली छोड़कर कहीं न जाएं

इस लॉकडाउन के दौरान जरूरी सेवाएं चालू रहेंगी। फल सब्जियां मिलती रहेंगी। मेट्रो चालू रहेगी, लेकिन उन्हीं लोगों को अनुमति होगी, जिनके पास पास है। होटल चालू रहेंगे, लेकिन सिर्फ होम डिलिवरी या टेक अवे की अनुमति होगी। सरकारी दफ्तर में कम कर्मचारियों के साथ काम चलाया जाएगा। प्राइवेट दफ्तर पूरी तरह बंद कर दिए गए हैं। ये वर्क फ्रॉम होम करेंगे। प्रवासी मजदूरों की समस्याओं के निपटने के लिए विशेष बंदोबस्त किए जा रहे हैं। वहीं एलजी ने दिल्ली में ऑक्सीजन की पूर्ति के लिए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन से बात की है। वहीं उत्तर प्रदेश से भी मदद मांगी जा रही है। केजरीवाल ने प्रवासी मजदूरों से अपील की है कि वे इस दौरान दिल्ली में रही रहें। राजधानी छोड़कर कहीं न जाएं। उनकी सुविधा का पूरा ख्याल रखा जाएगा।

वहीं महामारी पर राजनीति भी खूब हो रही है। भाजपा ने केजरीवाल पर आरोप लगाया कि वे मुश्किल वक्त में भी राजनीति कर रहे हैं। केजरीवाल ने केंद्र पर आरोप लगाया है कि दिल्ली के हिस्से की ऑक्सीजन दूसरे राज्यों में सप्लाय कर दी गई है। भाजपा का कहना है कि केजरीवाल कभी कहते हैं कि उनके पास पर्याप्त बैड है, वहीं दूसरे दिन बैड खत्म होने की बात कहते हैं।

दिल्ली में हर तीसरी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव

लगातार रिकॉर्ड संख्या में मरीज सामने आ रहे हैं और अस्पतालों में संसाधनों की भारी कमी हो गई है। किसी भी वक्त खबर आ सकती है कि दिल्ली में आईसीयू बैड खत्म हो गए हैं। ऑक्सीजन की भारी किल्लत तो मची हुई ही है। दिल्लीवासियों में कोरोना संक्रमण किस तरह फैल रहा है, इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि किए जा रहे कोरोना टेस्ट में हर तीसरी रिपोर्ट पॉजिटिव आ रही है। इससे पहले रविवार को राजधानी में कोरोना के 25,462 नए केस सामने आए जो अब तक का सबसे बड़ा आंकड़ा है। यहां कोरोना मरीजों के पॉजिटिव आने की दर 29.74 फीसदी हो गई है। बीते 24 घंटों में 161 मरीजों की मौत हो गई है।

यहां भी क्लिक करें; रोजाना 2 से 3 बार 5 मिनट तक भाप लेने से फेफड़ों पर नहीं होगा कोरोना का असर, जानिए सही तरीका

Posted By: Arvind Dubey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags