अंबाला। अमृतसर से टाटा नगर जाने वाली मूरी एक्सप्रेस और जम्मू से नई दिल्ली जाने वाली जम्मू मेल में बदमाशों ने मुसाफिरों के पर्स छीनकर लाखों रुपये की लूट की। ट्रेनों की चेन खींचकर बदमाश फरार हो गए। जब मुसाफिरों ने बदमाशों का पीछा करना चाहा तो उन पर पथराव किया गया। एक महिला को चोट भी आई है।

दोनों वारदात पानीपत से ट्रेन चलने के बाद हुई। दो दिन में तीन वारदातें होने के बाद हरकत में आए रेल प्रशासन ने दोनों ट्रेनों की पूरी गारद, आठ जवान सस्पेंड कर दिए है। पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन ने जीरो नंबर एफआईआर दर्ज कर पानीपत रेलवे पुलिस को भेज दी है।

पंजाब के पठानकोट की निवासी पूर्णिमा आनंद अपनी बेटी और दो अन्य रिश्तेदारों के साथ जम्मू मेल में पठानकोट से दिल्ली जा रही थी। शुक्रवार तड़के सवा चार के ट्रेन पानीपत से दिल्ली के लिए रवाना हुई तभी कुछ देर बाद बदमाश थर्ड एसी में सवार हुए और महिला का पर्स छीनकर ट्रेन की चेन खींचकर नीचे उतर गए तभी महिला ने शोर मचा दिया।

महिला का शोर सुन महिला यात्री के साथ अन्य मुसाफिर भी नीचे उतर गए जिसके बाद बदमाशों ने पत्थर फेंकने शुरू कर दिए। पूर्णिमा आनंद के टांग पर पत्थर भी लगे हैं। पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन पर उतरने के बाद महिला ने वारदात की लिखित शिकायत की। बदमाश करीब दो लाख रुपये नकद, जेवरात और अन्य सामान ले गए है।

इसी प्रकार टाटा मूरी एक्सप्रेस में भी गोहाना पुल के पास कई यात्रियों के पर्स छीने गए। यह वारदात भी थर्ड एसी कोच में हुई है। एसी कोच में वारदात करने का तरीका और पथराव फेंकने की घटना दोनों ट्रेनों में एक जैसी है। ताज्जुब की बात है कि मूरी एक्सप्रेस में दो रेलवे पुलिसकर्मी और आरपीएफ के चार जवान थे।

इससे एक दिन पहले संपूर्ण क्रांति एक्सप्रेस में भी इस तरीके से वारदात को अंजाम दिया गया था। बढ़ती घटनाओं के बाद हरकत में आए रेल प्रशासन ने दो आरपीएफ के हेडकांस्टेबल और छह कांस्टेबल सस्पेंड कर दिए हैं। दिल्ली मंडल के सीनियर कमांडेंट ने आठ जवानों को सस्पेंड किए जाने की पुष्टि की है।

Posted By: