Lucknow Building Collapse: लखनऊ में पांच मंजिला इमारत ढहने के बाद रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है। नियमों को दरकिनार कर कमजोर पिलर पर खड़ी इमारत मंगलवार को भरभराकर ढह गई थी। लखनऊ में वजीर हसन रोड पर बनी इस पांच मंजिला भवन (अलाया अपार्टमेंट) का निर्माण उसी यजदान बिल्डर ने किया था, जिसका एक भवन लखनऊ विकास प्राधिकरण (एलडीए) ने दो माह पहले ही ढहाया था।

अब तक 14 लोगों के मलबे से निकाला जा चुका है। कुछ के अब भी दबे होने की आशंका है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रिपोर्ट मांगी है।

Lucknow Building Collapse: जानिए अब तक क्या हुआ

जानकारी के मुताबिक, मंगलवार शाम साढ़े छह बजे अचानक पूरा भवन गिर गया। हादसे में 30 से ज्यादा लोग मलबे में दब गए। घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

अपार्टमेंट में 12 फ्लैट और दो पेंट हाउस बनाए गए थे। हादसे के समय इनमें कई लोग मौजूद थे। हर तरफ चीख-पुकार मच गई। मलबे में दबे लोग मदद की गुहार लगाने लगे। स्थानीय लोगों का कहना है कि अचानक तेज धमाका हुआ था और फिर ताश के पत्ते की तरह बिल्डिग भरभराकर नीचे आ गई। बिल्डिग के गिरते ही वहां भगदड़ मच गई।

भवन के निर्माण में भी एलडीए (लखनऊ विकास प्राधिकरण) अधिकारियों की लापरवाही सामने आई है। एकल आवासीय भवन का नक्शा पास कराकर पांच मंजिला भवन बनाया गया था।

घटना के तीन घंटे बाद ही अधिकारियों ने बिल्डरों के घर छापे डालने शुरू कर दिए। भवन के स्वामी उप्र पूर्व मंत्री व सपा विधायक शाहिद मंजूर के बेटे नवाजिश को हिरासत में ले लिया है।

Posted By: Arvind Dubey

  • Font Size
  • Close